ख़बर नैनीताल से :
सरपंच की पत्नी को तेंदुए ने बनाया निवाला,
दर्दनाक हादसा चार दिन में तीन लोगों को बनाया निवाला

बता दे कि
नैनीताल के ओखलकांडा ब्लॉक में तेंदुओं का आतंक बढ़ता ही जा रहा है।
शनिवार को धैना ग्रामसभा के सरपंच हरीश सिंह की पत्नी खिमुली देवी को तेंदुए ने अपना शिकार बना लिया।
तेंदुओं के हमलों में चार दिन में तीन लोगों की मौतों से ग्रामीणों में दहश्त है। 
बता दे कि
शनिवार दोपहर दो बजे खिमुली देवी अपने 10 साल के बेटे को लेकर घास काटने घर के पास के खेत पर गई थी।
इस दौरान खेत में घात लगाए तेंदुए ने खिमुली पर हमला कर दिया। तेंदुए को हमला करता देख बेटे ने घर पहुंचकर परिजनों और ग्रामीणों को बताया।
परिजनों और ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर शोर मचाया तो तेंदुआ महिला को घायल कर जंगल की ओर भाग निकला।
वही परिजन घायल हालत में महिला को अस्पताल लेकर जा रहे थे, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

वन विभाग ने मृतका के परिजनों को 25 हजार की आर्थिक सहायता राशि दे दी है। शेष धनराशि भी जल्द दे दी जाएगी। 
वही
चंपावत के डीएफओ मयंक शेर झा ने बताया कि महिला पर हमला करने की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम गांव भेजी गई है। गांव में पिंजरा भी भेजा जा रहा है। तेंदुए को आदमखोर घोषित करने के लिए अधिकारियों से वार्ता की जा रही है।

ओखलकांडा ब्लॉक में तेंदुओं के हमलों में तीन मौतों से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है तो वहीं, जनप्रतिनिधियों में वन विभाग के लिए आक्रोश है। पूर्व विधायक दान सिंह भंडारी ने कहा कि वन विभाग की लापरवाही के चलते तेंदुओं के हमले बढ़ रहे हैं। अब तक वन विभाग तेंदुए को आदमखोर घोषित नहीं कर पाया है। उन्होंने तीन दिन के भीतर तेंदुए के नहीं पकड़े जाने पर डीएफओ और कंजरवेटर कार्यालय में धरने प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

हल्द्वानी मंडी समिति अध्यक्ष मनोज साह ने बताया कि तीन मौतों से ग्रामीणों में डर का माहौल है, लेकिन विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठा है। उन्होंने बताया कि सीएम को घटना से अवगत कराने के साथ शासन और जिला प्रशासन से तेंदुए को आदमखोर घोषित करने के लिए कहा है। कुकना के पूर्व प्रधान मदन नौलिया ने बताया कि वन विभाग की लापरवाही से ही तेंदुआ आदमखोर बनकर ग्रामीणों को अपना निवाला बना रहा है। 

तुषराण में आया शिकारी
धारी एसडीएम अनुराग आर्या ने बताया कि तुषराण में 13 साल की नेहा कफल्टिया को मारने वाले तेंदुए के लिए शिकारी को बुला लिया है। एसडीएम ने बताया कि शिकारी गांव में पहुंचकर तेंदुए के शिकार में लग गए है। साथ ही बजवाल और धैना ग्रामसभा में भी शिकारी बुलाने की कार्रवाई चल रही है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here