रिपोर्ट भगवान सिंह

दुःखद ख़बर है आपको बता दे कि नए साल से पहले ही सोमवार देर रात देहरादून में हुए सड़क हादसे में अरुणांचल प्रदेश के रहने वाले एक छात्र की मौत हो गई जिसके बाद उनके घर पर कोहराम मचा हुवा है
दुःखद : जानकारी है कि मृतक छात्र केनी लैंडों शहर के तुलाज इंस्टीट्यूट में पढ़ता था।
ख़बर है कि ट्रक से भिड़ने के बाद बाइक सवार छात्र की मौके पर ही मौत हो गई। प्रेमगर एसओ दिलबर नेगी ने बताया कि पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेजा है। परिजनों को सूचना दे दी गई है।
वही ऋषिकेश शिवपुरी क्षेत्र में नए साल के मोके पर राफ्टिंग के दौरान लखनऊ से आए युवक डुबा जिसकी मोत हो गई जबकी तीन युवकों को बचाया गया
आपको बता दें की ऋषिकेश के शिवपुरी क्षेत्र में नए साल का जश्न मनाने लखनऊ से आए कुछ युवक गंगा में राफ्टिंग के दौरान उस समय डूब गया जब राफ्टिंग करते हुए राफ्ट पलटने के कारण गंगा नदी में डूबे , स्थानीय लोगों ने बड़ी मुश्किल से तीन युवकों को बचाया , वहीं मुनिकीरेती पुलिस मौके पर पहुंची एसडीआरएफ व जल पुलिस ने रेस्क्यू कर मृतक युवक के शव को किया बरामद, युवक की पानी में डूबने से हुई मौत , पुलिस द्वारा मौके पर पहुंचकर शव को लिया कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया ऋषिकेश पुलिस क्षेत्राधिकारी नरेंद्र नगर जे.पी. जुयाल का बयान लापरवाही का मामला आया सामने , लापरवाही के चलते हुई युवक की मौत। राफ्टिंग में दो की जगह एक गाइड होने के कारण हुआ हादसा।परिजनों की तहरीर के अनुसार की जाएगी कार्यवाही। मृतक युवक की पहचान ऐश्वर्या राय सिंह निवासी लखनऊ के रूप में हुई, परिजनों में मचा कोहराम !
ऋषिकेश शिवपुरी क्षेत्र में दोपहर 4:00 बजे लखनऊ से 6 युवकों का एक ग्रुप नया साल मनाने के लिए ऋषिकेश आया हुआ था। राफ्टिंग के दौरान अचानक ही राफ्ट पलट जाने के कारण चार युवक पानी की तेज धारा में डूबने लगे। आसपास मौजूद लोगों ने बड़ी मुश्किल से 3 लोगों की जान बचा ली ।वहीं एक युवक पानी की तेज धारा में नीचे बैठता चला गया। तत्काल ही इसकी सूचना थानाध्यक्ष मुनि की रेती आर.के.सकलानी को फोन पर दी गई। थानाध्यक्ष मुनि की रेती में फोर्स के मौके पर पहुंचे और एसडीआरएफ व जल पुलिस के गोताखोरों के द्वारा रेस्क्यू अभियान चलाया गया और युवक के शव को बरामद कर लिया गया। वहीं थानाध्यक्ष मुनि की रेती द्वारा शव को पोस्टमार्टम हेतु ऋषिकेश एम्स भेजा गया। पुलिस क्षेत्राधिकारी नरेंद्र नगर जे पी जुयाल द्वारा बताया गया की छानबीन में यह लापरवाही का मामला नजर आया है। एक राफ्ट में दो गाइड होने चाहिए परंतु उस समय एक गाइड ही राफ्ट में मौजूद था ।जिस कारण यह हादसा हुआ। परिजनों की तहरीर के आधार पर ही मुकदमा पंजीकृत किया जाएगा और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here