उत्तराखंड: गए थे जंगली मुर्गी का शिकार करने ओर अचानक बंदूक से चली गोली, घर के इकलौता चिराग की मौत दुःखद

दुःखद आपको बता दे कि उत्तराखंड के कोटद्वार भाबर के पश्चिमी झंडीचौड़ में बुधवार देर शाम एक युवक की गोली लगने से मौत हो गई। आपको बता दे की तीन युवक गांव के पास के जंगल में ही पिकनिक मनाने गए थे, जहां शिकार के लिए बंदूक को खोलते समय अचानक गोली चल गई और बताया गया है कि वो गोली युवक के गले में लग गई। जिस वजह से उसके शरीर में कई जगह छर्रे लग गए। ओर अस्पताल ले जाते समय युवक ने दम तोड़ दिया। वही पुलिस ने मृतक के दो साथियों को पूछताछ के लिए हिरासत में भी लिया है। मीडिया को  कोतवाल मनोज रतूड़ी ने बताया कि बुधवार शाम पश्चिमी झंडीचौड़ निवासी आकाश उम्र महज 23 साल पुत्र स्व. हरीश चंद्र अपने दो साथियों करन और संजय के साथ पास के जंगल में गए थे।
ओर मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उनका इरादा वहां जंगली मुर्गें का शिकार कर पिकनिक मनाने का था।
ख़बर है कि आकाश के पास एक अवैध बंदूक थी। जैसे ही आकाश ने फायरिंग के लिए उस बंदूक को खोलनी चाही, बंदूक से गोली चल गई और उसके गले में धंस गई। वही इस घटना से उसके दोनों साथी बुरी तरह घबरा गए। तब एक युवक ऑटो कर आकाश को अस्पताल लेकर गया तो दूसरे ने घटना की जानकारी उसके परिजनों को दी।
तब अस्पताल ले जाते आकाश ने रास्ते मे दम तोड़ दिया।
ओर उसका दोस्त बुरी तरह घबरा गया। फिर वह अस्पताल में उसे छोड़ घर चले गए। डाक्टरों ने आकाश को मृत घोषित कर दिया। वही नोजवान युवक की मौत की खबर से परिजनों में कोहराम मच हुवा है।
वही दोनों दोस्तों को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर उनकी निशानदेही पर बंदूक भी बरामद कर ली। आज यानी ब़ृहस्पतिवार को पुलिस ने युवक का पोस्टमार्टम कराया और तब शव को परिजनों के सुपुर्द कर दिया। पोस्टमार्टम से पहले पुलिस ने शव का एक्सरे भी कराया, जिसमें उसके शरीर में पांच छर्रें लगे हुए पाए गए। वही पुलिस ने इस पूरे मामले को महज एक हादसा करार दिया।
दुःखद बात ये है कि पश्चिमी झंडीचौड़ निवासी मृतक आकाश अपने घर का इकलौता चिराग था। ओर तीन बहनों के इकलौते भाई आकाश की मौत से जहां उसकी मां अनीता देवी सदमे में हैं, वहीं बहनों का भी रो-रोकर बुरा हाल है।
पुलिस को जहां इस मामले में किसी तरह की साजिश नजर नहीं आ रही है, वहीं मां अनीता देवी को हादसे के पीछे मृतक के ससुरालियों की साजिश लग रही है। अनीता देवी ने पुलिस को बताया कि आकाश ने दो साल पूर्व गांव की ही एक लड़की से लव मैरिज की थी और उसका एक नौ माह का बेटा भी है।
ओर उसके ससुराली विवाह से खुश नहीं थे। जिसको लेकर दोनों परिवारों के बीच अनबन चल रही थी। हालांकि आकाश के ससुरालियों ने उसकी मां के संदेह को सिरे से खारिज करते हुए निराधार बताया। मृतक आकाश के परिजन जहां बंदूक को ससुराल से लाने की बात कर रहे हैं, वहीं उसके ससुर रामकिशन ने बंदूक के बारे में कोई जानकारी होने से इनकार किया है।
बहराल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है ओर दावा कर रही है कि जो भी सच होगा वो सबके सामने आएगा।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here