राज्य युवा कल्याण परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष रविंद्र जुगरान ने आरोप लगाया कि तकनीकी शिक्षा विभाग उच्च न्यायालय को गुमराह कर रहा है। शीघ्र ही तकनीकी शिक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री को वस्तु स्थिति से अवगत कराया जाएगा। महिला तकनीकी शिक्षा संस्थान (डब्ल्यूआइटी) के निदेशक पद के लिए चार दिसंबर को आनन-फानन में साक्षात्कार करवाए जा रहे हैं। जबकि, मामला उच्च न्यायालय में अभी लंबित है।

रविंद्र जुगरान ने रविवार को बयान जारी कर डब्ल्यूआइटी निदेशक पद के लिए कराए जा रहे साक्षात्कार पर आपत्ति की। उन्होंने कहा कि यह प्रकरण अभी उच्च न्यायालय उत्तराखंड में लंबित है। इसलिए इस पद पर साक्षात्कार करना न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने सवाल खड़े किए कि डब्ल्यूआइटी में निदेशक के पद को एआइसीटीई के नियम विरुद्ध महिला अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित क्यों किया जा रहा है। साक्षात्कार के लिए पूर्व में कुलपति की अध्यक्षता में बनी कमेटी को निरस्त कर अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में नई कमेटी के गठन पर भी उन्होंने सवाल खड़े किए। कहा कि मामले को मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाया जाएगा।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here