देहरादून बोर्डिंग स्कूल गैंगरेप प्रकरण
पोक्सो कोर्ट का आया फैसला
मुख्य आरोपी को 20
और  आरोपियों को नौ साल की सजा।
पोक्सो कोर्ट ने आरोपी छात्र सरबजीत को सामूहिक दुष्कर्म के दोष में 20 साल की सजा सुनाई।
है।
कोर्ट ने इस मामले में आरोपी तीनों नाबालिग छात्रों को भी तीन-तीन साल की सजा सुनाई है।

विशेष पोक्सो जज रमा पांडेय की अदालत ने स्कूल निदेशक लता गुप्ता, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, दीपक उसकी पत्नी तनु को अलग-अलग धाराओं में पॉक्सो कोर्ट ने दोषी करार देते हुए सभी को नौ-नौ साल की सजा सुनाई।

देहरादून

बहुचर्चित जीआरडी बोर्डिंग स्कूल सामूहिक दुष्कर्म मामला।

आरोपी छात्र सरबजीत 376(d) सामूहिक दुष्कर्म का दोषी देकर पॉक्सो कोर्ट ने दी 20 साल की सजा।

स्कूल निदेशक लता गुप्ता, प्रिसिंपल जितेंद्र शर्मा, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, दीपक उसकी पत्नी तनु को अलग अलग धाराओं में पॉक्सो कोर्ट ने दोषी करार देते हुए सभी को 9 -9 साल की सजा सुनाई।

स्कूल प्रबंधन को साक्ष्य छुपाने, षड्यंत्र और गर्भपात कराने में दोषी करार दिया 10 लाख का जुर्माना भी लगाया गया ।

विशेष पोक्सो जज रमा पांडेय की अदालत ने सुनाया फैसला

अगस्त की घटना सितंबर 2018 में दर्ज हुआ था मुकदमा।

 

 

 

वही प्रिसिंपल जितेंद्र शर्मा को ढाई साल की सजा हुई है।
उन्हें कोर्ट से जमानत भी मिल गई हे।
स्कूल प्रबंधन को साक्ष्य छुपाने, षड्यंत्र और गर्भपात कराने में दोष में 10 लाख का जुर्माना भी लगाया गया ।
इन सभी पर साक्ष्य छिपाने, षड्यंत्र रचने और छात्रा का गर्भपात कराने का आरोप था। आरोपी आया मंजू को बरी कर दिया गया है।

वहीं, कोर्ट ने इस मामले में आरोपी तीनों नाबालिग छात्रों को भी तीन-तीन साल की सजा सुनाई है।
इन तीनों को पिछले साल किशोर न्याय बोर्ड ने बरी कर दिया था। आज पोक्सो कोर्ट ने सजा सुनाने के बाद तीन दिन के भीतर तीनों को किशोर न्याय बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने के आदेश दिए है।

ये था पूरा मामला

बता दें कि, सितंबर 2018 में सहसपुर क्षेत्र के एक बोर्डिंग स्कूल में छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। घटना अगस्त माह की थी। लेकिन इसका खुलासा सितंबर 2018 में हुआ था। इसके बाद ही मुकदमा दर्ज हुआ था। आरोप था कि उसके चार सहपाठी और सीनियर छात्र ने उससे दुष्कर्म किया और फिर स्कूल प्रबंधन ने उसका गर्भपात भी कराया।

मामले को उसके घरवालों से भी छिपा कर रखा गया। घटना का खुलासा होते ही पुलिस ने तीन नाबालिग आरोपियों को पकड़कर एक बालिग छात्र को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद आपराधिक साजिश और गर्भपात कराने के मामले में डायरेक्टर समेत प्रबंधन के पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

राजधानी देहरादून के सबसे चर्चित बोर्डिंग स्कूल गैंगरेप प्रकरण में आज पोक्सो कोर्ट ने आरोपी छात्र सरबजीत 376(डी) सामूहिक दुष्कर्म का दोषी करार कर दिया है।
वहीं, स्कूल की निदेशक लता गुप्ता, प्रिसिंपल जितेंद्र शर्मा, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दीपक, उसकी पत्नी तनु भी अलग-अलग धाराओं में दोषी करार हुए हैं।
बता दे कि इन सभी पर साक्ष्य छिपाने, षड्यंत्र रचने और छात्रा का गर्भपात कराने का आरोप था। वही आरोपी आया मंजू को बरी कर दिया गया है।

देहरादून जिले के
सहसपुर स्थित जीआरडी वर्ल्‍ड बोर्डिंग स्कूल में नाबालिग छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में विशेष पोक्सो जज रमा पांडेय कोर्ट ने आरोपी छात्र को दोषी करार देते हुए 20 साल की सजा सुनाई। स्कूल निदेशक लता गुप्ता, प्रिसिंपल जितेंद्र शर्मा, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, दीपक उसकी पत्नी तनु को अलग अलग धाराओं में पॉक्सो कोर्ट ने दोषी करार देते हुए सभी को 9 -9 साल की सजा सुनाई। स्कूल प्रबंधन को साक्ष्य छुपाने, षड्यंत्र और गर्भपात कराने में दोषी करार दिया 10 लाख का जुर्माना भी लगाया गया।
स्कूल के छात्रों पर छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म करने और स्कूल प्रबंधन पर मामले को दबाने का आरोप है। 2018 में हुई इस बहुचर्चित घटना में बोर्डिंग स्कूल में 12वीं में पढ़ने वाले दो और हाईस्कूल में पढ़ने वाले दो छात्रों पर हाईस्कूल की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने का आरोप है। पीड़ि‍त छात्रा अपनी बड़ी बहन के साथ बोर्डिंग में रहती थी। तबीयत खराब होने पर पीड़ि‍ता ने अपनी बहन को इसकी जानकारी दी थी। बड़ी बहन ने जब स्कूल प्रबंधन से इसकी शिकायत की तो स्कूल प्रबंधन पीड़ि‍त छात्रा को उपचार के लिए निजी चिकित्सक के पास भेजा, जहां पता चला कि छात्रा गर्भवती है।

स्कूल प्रबंधन पर आरोप है कि घटना की जानकारी होने के बाद भी उसने स्वजनों को इसकी जानकारी नहीं दी। इस मामले में पुलिस ने आरोपित छात्रों सहित स्कूल की निदेशक लता गुप्ता, प्रिंसिपल जितेंद्र शर्मा, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दीपक मल्होत्रा, उसकी पत्नी तनु, आया मंजू सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया था। अन्य नाबालिग आरोपित छात्रों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए चार्जशीट कोर्ट मे पेश की थी।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here