देहरादून की गलियो मे लूटने वाले ओर स्कूटी चोर गिरफ्तार

अर्जुन सिंह भंडारी कि कलम से  ……………..                                  पिछले दिनों देहरादून में हुई वाहन चोरियों का पर्दाफाश करने में थाना कोतवाली पुलिस टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है।  पुलिस तंत्रों के साथ मिलकर कल चेकिंग अभियान में सहारनपुर रोड स्थित माता वाली बाघ से छः अभियुक्तओं को चोरी की स्कूटी के साथ गिरफ्तार किया।पकडे गए अभियुक्तओं में से तीन अभियुक्त नाबालिक है व पहले भी वाहन चोरी में जेल जा चुके है।
राजधानी देहरादून में आये दिन बढ़ती वाहन चोरी व लूटपाट की घटनाओं पर सख्त कदम उठाने के निर्देश जारी किये थे जिसके चलते थाना कोतवाली नगर द्वारा वाहन चोरी पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु एसओपी ग्रुप तैयार किया गया जिसमें एसपी सिटी, व सीओ सिटी के पर्यवेक्षण में थाना प्रभारी कोतवाली की निर्देशन में एसआई अशोक राठौड़ के नेतृत्व में एक एन्टी ऑटो थेफ़्ट टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा पूर्व में हुई चोरियों की घटना स्थल की सीसीटीवी फुटेज चेक की गयी व पूर्व में हुई चोरी में पकडे गए सभी अभियुक्तओं का सत्यापन किया गया। इसी बीच थाना कोतवाली को सूचना मिली की देहरादून आये टिहरी गढ़वाल निवासी नाथीराम पोखरियाल रात को आराम करने के बाद सुबह 4.30 बजे टिहरी गढ़वाल वापिस जाने को अपनी गाड़ी के पास पहुंचे तो जल संस्थान वाली गली मोहल्ला मालियान मेे दो स्कूटी से चार लड़को ने उन्हें रोककर डरा धमकाकर उनसे उनका मोबाइल व जेब से 800 रुपये लूट लिए जिस सम्बन्ध में उनके द्वारा लक्खीबाग चौकी में मुकदमा दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने इस घटना के विषय में जब नाथीराम से पूछताछ की वह चार लड़के थे , सब छोटी उम्र के थे। जिनमे से दो 20-22 साल के थे व बाकि दो 16-17 साल के लग रहे थे। सारे ही दुबले पतले से व नशेड़ी भी प्रतीत हो रहे थे। एसएसआई अशोक राठौड़ ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए तुरंत कार्यवाही शुरू की। उन्होंने पिछले चोरियों में पकडे गए अभियुक्तओं की तस्वीरें नाथीराम को दिखाई जिसमे से तीन को उन्होंने पहचान लिया।  इस जानकारी पर उक्त तीनों की पुलिस टीम द्वारा तलाश प्रारम्भ की गई, इनके घरो पर दबिश दी गयी किन्तु वह नही मिले, उक्त की तलाश हेतु पुलिस मुखबिरों को सक्रिय किया गया व सर्विलांस की मदद भी ली गयी। 
तलाश के दौरान 22 जुलाई को पुलिस सूत्रों द्वारा पुलिस को जानकारी मिली कि जिन लड़को को पुलिस तलाश कर रही है वह चोरी की स्कूटी से डाट काली मंदिर से घूमकर वापस शहर की तरफ आ रहे हैं। इस सूचना पर तुरंत कार्यवाही करते हुए पुलिस टीम ने सहारनपुर रोड पर चैकिंग प्रारम्भ की जिसके कुछ देर 3 स्कूटी पर 6 लड़के आते दिखाई दिए। मुखबिर द्वारा उनके आने की पुष्टि पर उन्हें रोकने का इशारा किया गया पर उनके द्वारा पुलिस को देखकर तेज़ी से कट मारते हुए भागने का प्रयास किया गया पर पुलिस ने उनको मौके से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मौके से राहुल उर्फ गुच्ची (19) इंद्रा कॉलोनी,सत्यम(18)इंद्रा कॉलोनी चक्खुमोहल्ला,कुलदीप उर्फ कुल्लू(18) निवासी कांवली रोड व तीन अन्य बाल अपचारी को गिरफ्तार किया है। पूछताछ पर इनके द्वारा 21 जुलाई को लूट की घटना स्वीकार की गई है व पुलिस ने इनके पास से लूट का मोबाइल तथा तीन चोरी की स्कूटी बरामद की है। अभियुक्तओं की निशानदेही पर पुलिस ने आईएसबीटी पार्किंग से अन्य गाड़ी भी बरामद की है। इनमे से तीन अभियुक्त जून में भी वाहन चोरी के सम्बन्ध में कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़ चुके है जिनके पास से पुलिस ने दो स्कूटी व एक मोटरसाइकिल बरामद की थी।

सुबह के वक़्त किया करते थे चोरी, नशे व घूमने के शौक के चलते की चोरियां
पूछताछ पर अभियुक्त गणो व बाल अपचारियों ने बताया कि यह सब आस पास के रहने वाले हैं, तथा सभी ने लगभग बीच मे ही पढ़ाई छोड़ दी है। इनके गिरोह का मुख्य अभियुक्त नाबालिक है जिसके द्वारा ही सभी को इकठ्ठा किया गया था।*इनमे से तीन बाल अपचारी पूर्व में भी दिनाँक 24 जून को कोतवाली नगर, देहरादून में पकड़े गए थे। उसके बाद मुख्य अभियुक्त व एक अन्य नाबालिक अभियुक्त राहुल उर्फ गुच्ची के साथ जेसीबी पर काम करने हरियाणा चला गया था। उसके द्वारा 3 -4 दिन पूर्व ही हरियाणा से वापस आकर सबको इकट्ठा किया और पुनः स्कूटी चोरी की गयी। उनके अनुसार इन्होंने एक स्कूटी हरियाणा जाने से पूर्व चक्खुमोहल्ला से चोरी की थी जिसको आईएसबीटी पार्किंग पर खड़ा करके चले गए थे, और बाकी अभी 3 स्कूटी हरियाणा से आने के बाद चोरी की जिसमे दो स्कूटी करीब तीन दिन पहले चक्खुमोहल्ला से चोरी की थी। पकडे गए अभियुक्तओं में से चार लोग बीती 20 जुलाई की रात को इन्ही गाड़ियों से डांट काली मां के जागरण में गए थे वहाँ से जब ये 21 जुलाई की सुबह 4-5 बजे वापस आ रहे थे तब इन्होंने जल संस्थान वाली गली मालियान मोहल्ले में नाथीराम को लूटा था।चूकि इसमे इनको कुछ ज्यादा रुपया नही मिल पाया तो अपने दो साथियों को भी बुलाकर यह सब और घटना की फिराक में घूमते हुए मालवीय रोड  ओर लक्ष्मम चोक  स्कूटी चोरी करके ले गए। चोरी की गाड़ी से ये लोग पहले घूमते फिरते थे और उसके बाद बेच देते थे। घूमने-फिरने व नशे के आदि होने के चलते अधिक खर्च होने के कारण अधिक पैसे की जरूरत होने पर चोरी व लूट जैसी वारदात को अंजाम देते थे। पुलिस ने इनसे चोरी की गाड़ियों व खरीद-फिरौत के सम्बन्ध में कई जानकारियां इकठ्ठा की है।
अभियुक्तो द्वारा विशेषकर सुबह के समय इकट्ठे होकर मोहल्लों में घुमतें हुए अकेले व्यक्ति को देखकर सुनसान जगह पर उसका कीमती सामान व नकदी आदि लूट लेना व गलियो/रास्ते आदि पर खड़ी लावारिश दोपहिया वाहनों को अपने पास रखी चाबी से खोलकर चोरी कर ले जाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here