आज यानी शनिवार को देहरादून जिले के 62 वें जिलाधिकारी के रूप में नवआंगतुक जिलाधिकारी आशीष कुमार श्रीवास्तव ने दोपहर में कलेक्ट्रेट के कोषागार में डबल लाॅक का कार्यभार ग्रहण किया, तत्पश्चात कलेक्ट्रेट सभागार में चतुर्थ श्रेणी कार्मिक तथा उसके पश्चात कलेक्ट्रेट परिसर के समस्त कार्मिकों से मुखातिब हुए।


कलेक्ट्रेट परिसर के चतुर्थ श्रेणी कार्मिकों से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि सबसे पहले कलेक्ट्रेट परिसर की छोटी टीम से मिलने, का मुख्य उद्देश्य यह है कि आप इस परिसर के सबसे महत्वपूर्ण अंग हैं और आपकी कार्यशैली से कलेक्ट्रेट
की छवि बनती बिगड़ती है। उन्होंने सभी को अपने-अपने दायित्वों का ईमानदारी, सत्यनिष्ठा, लगन और प्रभावी तरीके से कार्य करने की प्ररेणा दी। साथ ही कहा कि यदि  किसी कार्मिक की निजी या पारिवारिक कोई समस्या हो तो वे उनसे साझा कर सकते हैं। इसके पश्चात राजस्व विभाग के सभी अधिकारियों और कार्मिकों से मुखातिब होते हुए जिलाधिकारी ने अपनी प्राथमिकताएं बताते हुए सभी को जनपद देहरादून को आदर्श जनपद तथा देहरादून कलेक्ट्रेट को आदर्श कलेक्ट्रेट
बनाने का संदेश दिया। उन्होंने बेहतर पब्लिक ग्रीवान्स व्यवस्था के लिए कलेक्ट्रेट
को तकनीकी रूप से दक्ष बनाने, पब्लिक की विभिन्न समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए उनका त्वरित निस्तारण करने, बिन्दाल-रिस्पना नदी के पुनर्जीवन व रिवर डेवलेपमेन्ट योजना के साथ ही स्मार्ट सिटी के कामों को बेहतर तरीके से सम्पादित करने और राज्य में संचालित विभिन्न केन्द्रीय व राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का बेहतर इम्पिलिमेन्टेशन पर जोर दिया।
जिलाधिकारी ने कहा कि हम सबको एक टीम भावना से कार्य करना है। सभी कार्यों को समयबद्धता से पूरा करने का विशेष ध्यान रखें। जनहित की समस्याओं में अनावश्यक औपचारिकताओं से देरी ना करने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी को अपनी कार्यशैली और आचरण को बेहतर बनाते हुए कार्यालय में खुशनुमा माहौल बनाने का संदेश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि हमें लोगों की समस्याओं के समाधान में केवल शहर और आसपास के क्षेत्रों तक ही सीमित न रहकर वरन इन्टिरियल क्षेत्र में रहने वाले लोगों पर भी विशेष फोकस करना होगा ताकि जनपद के सीमांत क्षेत्रों में निवास कर रही आबाधी को भी बेहतर जीवन यापन एवं सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त हो। उन्होंने इसके लिए सभी उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में अधीनस्थ कार्मिकों को भी ब्रीफ करते हुए जनकल्याणाकरी योजनाओं और कार्यक्रमों के बेहतर अनुपालन के साथ-साथ जनता की समस्याओं का तेजी से समाधान के प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी कार्मिकों का परिचय लेते हुए सभी से आदर्श जनपद बनाने में सक्रिय सहयोग की अपेक्षा की।
इसके साथ ही बोलता उत्तराखंड से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि आपको राजधानी देहरादून के अंदर जीरो टॉलरेश दिखाई देगा।
ओर सबसे बड़ी बात उन्होंने कही की में कोई दरबार लगाने पर बिस्वास नही करता
मैं भी लोक सेवक हूँ
यहा पर जिले की जनता आकर अपनी समस्या, दर्द बता सकती है उनका ये लोक सेवक उनकी समस्याओं का अंत करेगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत, अपर जिलाधिकारी बीर सिंह बुदियाल व रामजी शरण शर्मा, नगर मजिस्टेªट अनुराधा पाल सहित विभिन्न क्षेत्रों के उप जिलाधिकारी एव कलेक्ट्रेट
परिसर के अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित थे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here