कोरोना से जंगः उत्तराखंड पुलिस जान जोखिम में डाल कर रही सेवा , अब तक 1993 पुलिसकर्मी संक्रमित

हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

देहरादूनः कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में फ्रंटलाइन में काम करने वाले पुलिस जवान भी तेजी से संक्रमित हो रहे हैं, जिससे पुलिस विभाग के सामने चुनौती खड़ी हो गई है। मौजूदा समय में प्रदेश में संक्रमित पुलिस जवानों की संख्या 1993 पहुंच गई है। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए सबसे अधिक 300 पुलिस जवान देहरादून जिले के हैं। इसके अलावा उधम सिंह नगर में 235 और हरिद्वार जिले में 222 जवान कोरोना संक्रमित हुए हैं।

कोरोना संक्रमण के इस दौरान सबसे अधिक दबाव पुलिस जवानों पर ही है। पुलिस जवान कोरोना कर्फ्यू के साथ-साथ मिशन हौसला अभियान चलाकर कोरोना संक्रमितों तक आक्सीजन व जीवनरक्षक दवाइयां भी उपलब्ध करवा रहे हैं। इसके साथ ही आपातकालीन स्थिति में कोरोना संक्रमितों को अस्पताल पहुंचाने व कोरोना से मृत्यु हो जाने पर दाह संस्कार की जिम्मेदारी भी पुलिस के कंधों पर ही है। यही कारण है कि पुलिस जवानों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। को क्वारंटाइन किया गया है। हालांकि क्वारंटाइन किए गए 3103 पुलिसकर्मियों को कोई लक्षण न दिखने पर ड्यूटी पर बुला दिया गया है।

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस फ्रंटलाइन में रहकर ड्यूटी कर रहे हैं, इसलिए संक्रमण का खतरा बढ़ा है। सबसे बड़ी बात यह है कि लगभग सभी पुलिसकर्मियों को कोरोना रोधी वैक्सीन लगाई जा चुकी है, जिसके कारण कोरोना संक्रमित हुए पुलिसकर्मियों का स्वास्थ्य ठीक है। जितने पुलिसकर्मी संक्रमित हो रहे हैं, उतने ही ठीक होकर ड्यूटी पर लौट रहे हैं।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here