बड़ी ख़बर

  1. संत गोपाल मणि का दावा, कोरोना को दूर करने में गाय का गोबर और गोमूत्र साबित होगा रामबाण।

जी हा कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए पूरे विश्व के वैज्ञानिक, चिकित्सक दवा की खोज करने में लगे हैं, ताकि कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाया जा सके. वहीं भारत में कई संत और स्वामी भी आयुर्वेदिक तरीकों से कोरोना को खत्म करने का दावा कर रहे हैं. कुछ इसी तरह का दावा संत गोपाल मणि ने भी किया है


बता दे कि
देश दुनिया में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है. वहीं देश में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 3 हज़ार से दिन प्रति दिन बढ़ रही है
लिहाजा, केंद्र सरकार ने भी कोरोना वायरस से बचने को लेकर तमाम एडवाइजरी जारी कर रही है ओर कर रखी है


इसके साथ ही लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने की बात, अपील लगातार मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र कर रहै है।
तो वहीं दूसरी ओर देहरादून के संत एवं कथा वाचक गोपाल मणि महाराज जी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए गाय के गोबर और गोमूत्र को ब्रह्मास्त्र बता रहे हैं.
यही नहीं उनका कहना है निवेदन है कि गोबर और गोमूत्र के मिश्रण की ओर अलग अलग करके भी वैज्ञानिक इसकी खोज करे।

संत एवं कथा वाचक गोपाल मणि ने पहले गाय के गोबर व मलमूत्र से स्नान किया और उसके बाद शीर्षासन किया
. संत गोपाल मणि ने कहा कि शीर्षासन करने का उद्देश्य यह है कि देश के शीर्ष स्थानों के जो लोग हैं, उन तक ये संदेश पहुंचाना है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए हमारे पास एकमात्र ब्रह्मास्त्र गाय का गोबर और गोमूत्र है. जो कोरोना महामारी से जनता को बचा सकता है. इस उपाय से कोरोना वायरस को हराया जा सकता है.

इसके साथ ही आज यानी 5 अप्रैल को प्रधानमंत्री ने देश की जनता से रात 9 बजे दीपक, मोमबत्ती, टॉर्च और मोबाइल का फ़्लैश लाइट जलाने का आह्वान किया है. उसका देश की जनता के साथ वे भी समर्थन करते है और कहते है कि
वह प्रधानमंत्री और शासन के माध्यम से आग्रह करते हैं कि क्यों ना गाय के गोबर और गोमूत्र का भी छिड़काव किया जाए,
गोबर के उपले जलाए जाए,
वे कहते है कि खुद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने माना है कि गाय का गोमूत्र एन्टी केंसर है
ओर मेरा दावा है कि
गाय को गोबर गोमूत्र इस कोरोना रूपी शत्रु को ही देश से बाहर निकाल लेगा
ओर इस प्रकार इस महामारी से देश की जनता को बचाया जा सकता है।

यह गुप्त ब्रह्मास्त्र केवल हमारे पास ही है और यह गुप्त ब्रह्मास्त्र कोरोना वायरस जैसी गुप्त शत्रु को मारने के लिए है.

यही नहीं संत गोपाल मणि ने कहा कि गाय को अंग्रेजी में cow कहते हैं और cow में c का मतलब है corona, O का मतलब है out from और W का मतलब world है.
यानी विश्व से इस बीमारी को दूर करने के लिए औषधि सिर्फ गाय के पास है और यह संदेश वह देश की जनता को देना चाहते हैं. यही नहीं संत ने दावा किया कि अगर वैज्ञानिक गाय के गोबर और गोमूत्र पर रिसर्च करें तो उन्हें पता चलेगा कि कोरोना को दूर करने में गोबर और गोमूत्र रामबाण साबित होगा.
इसके साथ कि उन्होंने जनता से निवेदन किया है कि
वे सब आज रात 9 बजे से 9 बकजर 9 मिनट तक जैसा मोदी जी ने कहा है अवश्य करे। हम भी करेगे 
अपने घरों की लाइट बंद कर
केडील, टार्च, दीपक अवश्य जलाए ओर 14 अप्रैल तक समाजिक दूरिया जरूर बनाये।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here