हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

टिहरी। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत बुधवार को आपदा प्रभावित क्षेत्र देवप्रयाग पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रभावितों की तत्काल मदद की जाए। जिलाधिकारी नुकसान का आंकलन जल्द करें। जल्द से जल्द मलबा हटाया जाए। जनता की सुरक्षा सबसे पहले है।

बुधवार को सुबह करीब 11 बजे मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत आपदा प्रभावित क्षेत्र देवप्रयाग में ग्राउंड जीरो पर पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रभावित लोगों से मुलाकात की। कहा हर संभव सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने ग्राउंड जीरो पर पहुंच जायजा लिया और जिलाधिकारी को प्रभावितों को अनुमन्य सहायता जल्द उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक विनोद कंडारी, जिलाधिकारी ईवा श्रीवास्तव, एसएसपी भी मौजूद हैं।

बता दें कि बीते रोज टिहरी जिले में तीन स्थानों पर बादल फटने से भारी नुकसान हुआ है। देवप्रयाग में बरसाती नदी में आए उफान से 10 दुकानों के साथ ही आइटीआइ भवन मलबे में तब्दील हो गया। गनीमत रही इन दिनों कोविड कर्फ्यू के चलते बाजार बंद था। इससे जान का नुकसान नहीं हुआ। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अधिकारियों से संपर्क कर हालात का जायजा लिया और जिला प्रशासन से नुकसान की रिपोर्ट तलब की है। इसके अलावा बौंठ और क्यारा गांव में बादल फटने से मकान और दुकानों को नुकसान पहुंचने के साथ ही खेत भी मलबे से पट गए। एक सप्ताह में यह दूसरा मौका है जब टिहरी में बादल फटा।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here