चालक की रफ्तार ने ली 5 लोगो की ज़िदगी! 20 घायल ! पूरी रिपोर्ट

 देवभूमि मे लगातार पहाड़ों मे सड़क हादसे ही रहे है मानो जैसे ये हादसे पर्वतीय जनता की नियति बन चुके हैं! ओर हर बड़ा हादसे के बाद राजनेताओ की शोक संवेदनाओं देते है और सरकार ,मुआवजे की घोषणा करती है सिस्टम को भी कोसने का सिलसिला शुरू हो जाता है।

ओर कुछ ही दिन बीत जाने के बाद समूची घटना को भुला दिया जाता है। ये बात हम अभी तक के पिछले सड़क हादसों को देख कर बोल रहे है पहले पौड़ी गढ़वाल हादास , फिर टिहरी मे सड़क हादसा, उत्तरकाशी मे सड़क हादसा ओर अब ये रामनगर के रास्ते मे बस हादास ।

यह उदासीनता ही है कि पहाड़ों में बार—बार हादसे होते हैं और फिर सब कुछ पूर्ववत चलने लगता है।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस हादसे के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।


आपको बता दे कि
रामनगर से गैरसैंण जा रही गढ़वाल मोटर यूनियन की बस भतरौजखान से दो किमी आगे खाई में गिर गई। हादसे में पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई
ख़बर विस्तार से रामनगर से गैरसैंण जा रही गढ़वाल मोटर यूनियन (जीएमओयू) की बस भतरौजखान से दो किमी आगे खाई में गिर गई। हादसे में पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 21 लोग घायल हो गए।


घटना आज दोपहर करीब तीन बजे की है। जीएमओयू की बस यूके 04पीए 126 गुरुवार को मध्याह्न करीब 12 बजे रामनगर से यात्री लेकर गैरसैंण (गढ़वाल) के लिए रवाना हुई। रामनगर बदरीनाथ हाईवे पर भतरौजखान से दो किमी आगे चालक ने बस से नियंत्रण खो दिया। नतीजतन, यात्रियों से भरी बस लगभग 400 मीटर गहरी खाई में जा गिरी।

हादसे में पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 21 लोग घायल हो गए। हादसे के बाद बस को देखकर लग रहा है कि ये हादसा कितना बड़ा रहा होगा जिसमें बस के परखच्चे तक उड़ गये।


आपको बता दे कि घायलों से जो जानकारी मिल रही है उनके अनुसार बस लगभग 3:15 पर भिकियासैंण को चली किन्तु उसकी रफ्तार काफी तेज थी। चालक को रफ्तार काम करने को कहा गया किन्तु वह नही माना और तेज गति के कारण बस गहरी खाई में जा गिरी। बस हादसे की सही वजह का तो हालांकि जांच के बाद ही कुछ पता चला पायेगा, लेकिन अब तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार भतरौजखान तक एक चालक रामनगर से लगातार सही बस चलाता आया। भतरौजखान में उसने कुछ स्वास्थ्य की दिक्कत बताई और दूसरा चालक बस चलाने लग गया। कुछ दूरी तक तो उसने बस ​ठीक चलाई, लेकिन अचानक मोहनरी के पास नियंत्रण खो बैठा और बचने के प्रयास में उसने बस दांयी ओर चट्टान पर ठोक दी, लेकिन इससे कोई अंतर नही आया और बस सीधे दीवार से टकराने के बाद गहरी खाई में जा गिरी।

 

रानीखेत अस्पताल में 108 में लाये गये घायल पंकज रिखाड़ी ने यही बयान दिये हैं। फिलहाल अब तक प्रशासन की ओर से मृतक व घायलों की जो सूची जारी की है वह अपूर्ण है। फिर भी मृतक व घायलों में इनके नामों की जानकारी मिली है
घायलों के नाम
1- वीरेंद्र बिष्ट पुत्र दानसिंह निवासी नौला, उम्र 17 वर्ष
2- भीम बहादुर पुत्र रामसिंह निवासी हाल मासी, मूल निवासी नेपाल, उम्र 33 वर्ष
3- खगेन्द्र कार्की पुत्र भीम कार्की हाल निवासी मासी, मूल निवासी नेपाल,
4 मन्नू बाल्मीकि, पुत्र बरिया निवासी गैरसैण उम्र 60 वर्ष
5 शाहनवाज पुत्र भूरे निवासी कांट मुरादाबाद उम्र 18 वर्ष
6 कुंदन सिंह पुत्र मदन सिंह निवासी थौली उम्र 32 वर्ष
7 असलम हुसैन पुत्र असफाक हुसैन निवासी भिकियासैंण उम्र 38 वर्ष
8- श्रीमती भवानी देवी पत्नी गंगा राम निवासी कोट उम्र 51 वर्ष
9- रूपेश बिष्ट पुत्र आनंद सिंग बिष्ट निवासी नौला उम्र 18 वर्ष
10- मीना पुत्री प्रकाश राम निवासी देवरापानी
11 प्रेमा पुत्री प्रकाश राम निवासी देवरापानी
12 मो0 तौफीक पुत्र अब्दुल रसीद निवासी भटकोट निवासी रामपुर
13 पंकज रिखारी पुत्र दिनेश निवासी चचरोटी स्याल्दे उम्र 18 वर्ष
14 मुमताज पत्नी असलम हुसैन निवासी भिकियासैंण उम्र 35 वर्ष
15 रामसिंह पुत्र अज्ञात निवासी नेपाल उम्र 46 वर्ष
16 समीर पुत्र भूरा निवासी रामपुर उम्र 17 वर्ष
17 जगत सिंह कठायत पुत्र भवन सिंह निवासी हाऊली उम्र 60 वर्ष
18 मानसी पुत्री कमला देवी निवासी भतरोजखान उम्र 12 वर्ष
19 कमला देवी पत्नी अज्ञात निवासी भतरोजखान उम्र 30 वर्ष
20 लाल गिरी पुत्र अज्ञात निवासी रामनगर उम्र 36 वर्ष
मृतकों की सूची —
1 हिमांशू पुत्र शूरेश उम्र लगभग 20 वर्ष
2 उमेश नाथ पुत्र हरि नाथ ग्राम थौली उम्र 24 वर्ष
3 प्रेम सिंह पुत्र अज्ञात निवासी अज्ञात
4 नंदन परिचालक
5 अज्ञात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here