नेताओं और बुद्धिजीवियों को मालूम है कि पहाड़ अक़्सर  बीमार रहता  है  कारण पहाड़ डॉक्टर जाने को तैयार नही होते   राज्य के मैदानी इलाकों में प्राइवेट अस्पतालों की भरमार तो है पर ठीक से और बेहतरीन इलाज यहाँ है कहाँ ? सरकारी अस्पताल तो बस नाम के हैं,   पहाड़ स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जूझ रहा है

. इसमें दोष राज्य की अब तक की सभी सरकारों का है क्योंकि पहाड़  के विकास के नाम पर वोट तो खूब मिले  नेेता को  पर विकास कोसों दूर है अब मैदानी इलाकों में अस्पतालों की बात की जाये, ऋषिकेश का एम्स हो या जॉली ग्रांट अस्पताल हो ,सिनर्जी हो या मैक्स सभी जगह आये दिन प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी  खूब देखने को मिलती है और बेहतर  इलाज उन्हीं का होता है जिसकी सिफारिश होती है   उम्मीद करते हैं कि  अब डबल इज़न आप हालात सुधारेंगे.

अब देखिये ना यमकेश्वर विधानसभा के पंचूर  गाँव के आनद सिंह बिष्ट जी को  जिन्हें आज यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता के नाम से सब जानते हैं जिनकी तबियत बिगड़ी पहले पौड़ी डॉक्टर को दिखाया गया सुविधा का अभाव था इसलिए जॉली ग्रांट ले आये जहां  सी एम  सहित सभी नेता  आनंद सिंह बिष्ट जी  का हाल जानने पहुचे . लेकिन  फिर  उन्हें जॉलीग्रांट हिमालयन हॉस्पिटल से दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल के लिए रेफर किया गया।

हमें मालूम चला था कि योगी के पिता जी  को दस्त और उल्टियों होने के कारण उनके शरीर में पानी की कमी हो गई थी जिस वजह से उनकी हालत बिगड़ गई थी

माना जा रहा है की यूपी सीएम  कि इच्छा पर उनको दिल्ली रेफर किया गया हैं पर डबल  इंजन की सरकार भी  समझ गयी है कि देहरादून में कितने भी बड़े और बढ़िया अस्पताल क्यों न हो पर अच्छे और स्पेशिलिस्ट नामी डॉक्टर तो दिल्ली में ही हैं ओर जो यह हैं तो बहुत कम अगर वो डॉक्टर  छूटीं  पर हो तो  फिर इलाज संभव नही,  राज्य  के अस्पतालों में सुपर स्पेशिलिस्ट डॉक्टर की भरमार हो और पहाड़ में  हर सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर तैनात हो जो अभी तक पूरे  नही हैं  अछी सुविधा  हो पहाड़ो में  डबल इज़न की सरकार से उम्मीद करते हैं कि वो अपनी सरकार के रहते रहते  पहाड़ को अब बीमार नही रहने देंगे,  क्योंकि सर  हर किसी के पास अछे इलाज के लिए सिफारिश नही ,बहुत ज्यादा पैसा नही डॉक्टरो को देने के लिए  , पहाड के निवासियों के पास पहाड़ में रोजगार नही ,इसलिए सरकार पर निर्भर हैं पूरा पहाड़  कि सरकार सरकारी अस्पतालों को  बेहतर बनाये  ओर ये काम डबल इज़न ट्रिपल इज़न के सिवा कोई नही कर सकता  अच्छा मौका हैं सीएम के पास स्वास्थ्य सेवाओं को ओर मजूबत बनाने का पहाड़ में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here