सीएम त्रिवेन्द्र मज़बूर क्यो! यहा क्यो नही दिखती ईमानदारी!

डबल इज़न की सरकार है तो इसका मतलब ये नही की आप के विधायक कुछ भी कर ले अब तो हद हो गई त्रिवेन्द्र सरकार! उत्तराखंड की बेटियों और बहनों का अपमान कब तक सहेगा जनमानस? रुद्रपुर के आपकी पार्टी के विधायक की करतूतें न केवल आपकी सरकार को बल्कि आपकी पार्टी को बदनाम कर रही हैं। ये करतूतें आपकी बेदाग और ईमानदार छवि को धूमिल करने का काम तो कर ही रही हैं साथ ही सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति को भी खुलेआम चुनौती दे रही हैं। आप उत्तराखंड के विकास के लिए निरंतर प्रयासरत हैं , निवेशकों को राज्य में निवेश करने को प्रेरित करने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं लेकिन उन सब पर आपके ये बेलगाम विधायक पानी फेरने का काम कर रहे हैं। सीएम साहब! जहां के विधायक खुलेआम गुंडागर्दी करते हों वहां कौनसा निवेशक अपना निवेश करना चाहेगा।

कानून को जूते की नोंक पर रखने वाले विधायक जहां होंगे वहाँ क्या कोई शरीफ व्यक्ति अपना व्यापार शुरू करेगा? जहां क़ानून के शासन का इकबाल बुलन्द होता है वहीं निवेश भी होता है, समृद्धि भी आती है। उत्तराखंड के बाकी जिलों में इस तरह की कोई समस्या नहीं है लेकिन आपकी पार्टी का ये अकेला बेलगाम पूरे उत्तराखंड की छवि को दूषित करने का काम कर रहा है। अगर इसका दूसरा पहलू देखें तो ये जीरो टॉलरेंस की नीति को कमजोर करने की साजिष भी हो सकती है। हो सकता है आप ही की पार्टी के आपको मजबूरी में बर्दाश्त करने वाले और अपनी मनमानी न चला पा रहे नेताओं का संरक्षण इन्हें मिल रहा हो। जिससे कि जनता की दृष्टि में सरकार की छवि अराजकता को प्रश्रय देने वाली सरकार की बने। मुख्यमंत्री जी राजनीति में परसेप्सन बहुत मायने रखता है और आपकी पार्टी को प्रचंड बहुमत देने वाली उत्तराखंड की सम्मानित जनता में इस तरह की करतूतें बहुत अधिक नकरात्मक संदेश दे रही हैं। आपके पास इतना बहुमत है कि इस तरह के बेलगाम और बदतमीजी पर उतरने वालों पर लगाम लगा सकें और उनको तहजीब सिखा सकें, तो फिर का चुप साधि रहेहु हनुमाना… आपके पास राजदंड है, उत्तराखंड की जनता का विश्वास है, आलाकमान का विश्वास है तो फिर मौन क्यों? समय रहते इस मौन को तोड़ कर इन बेलगामों की लगाम कसिए वरना उत्तराखंड का जनमानस जब खिलाफ होता है तो वह फिर परवाह नहीं करता। आप तो मुझ से बेहतर जानते ही हैं कि ये वीरांगना तीलू रौतेली की भूमि है, ये गौरा देवी की भूमि है। ये भूमि अपनी बेटियों का अपमान बर्दाश्त नहीं करती।।  

डंका राम की कलम से….

बहराल सोशल मीडिया मे डबल इंजन की सरकार   के विधायक पर लगातार सवाल खड़े होते रहते है पर जब   आगे  पीछे इनकी ही है सरकार  तो यहा के राजकुमार है  जनाब । इसलिए  राजकुमार कुछ भी करे कुछ भी बोले इनकी मर्ज़ी   ना कोई रोके ना टोके  क्योकि त्रिवेन्द्र सरकार है  के विधायक है  ना !बहराल हम समझ नही पा रहे है कि सरकार और सगठन यहा पर क्यो मज़बूर ही जाता है और कहा चली जाती है ईमानदारी!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here