त्रिवेंद्र ने  बरसआये  तोहफे,

10 साल में 25 हजार करोड़ से संवरेगी ग्रीष्मकालीन राजधानी

 

 

उत्तराखंड में साढ़े तीन साल से जीरो टॉलरेश की नीति से सरकार चलाने वाले राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि गैरसैंण परिक्षेत्र का ग्रीष्मकालीन राजधानी के अनुरूप विकास के लिए अगले दस सालो में 25 हजार करोड़ खर्च किए जाएंगे।
ओर गैरसैंण के सुनियोजित विकास के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में समिति बनाई जाएगी।

बता दे कि
सोमवार को सीएम ने भराड़ीसैंण विधानसभा परिसर में 21वें राज्य स्थापना दिवस कार्यक्रम में यह घोषणा की। 

सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि सरकार ने रूरल ग्रोथ सेंटर प्रारंभ किया। प्रदेश में 104 सेंटरों को स्वीकृति दी जा चुकी है।
40 से अधिक शुरू भी हो गए हैं।
सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में एक रुपये में पानी का कनेक्शन दे रही है। कैंपा योजना में 10 हजार लोगों को रोजगार दिया जाएगा।

 

त्रिवेंद्र की सौगात
डेढ़ लाख कर्मचारियों को दिवाली का बोनस

मुख्यमंत्री ने अराजपत्रित कर्मचारियों, दैनिक वेतन भोगियों, निगम कर्मचारियों के लिए दिवाली बोनस की घोषणा की।
ये सौगात करीब डेढ़ लाख कर्मचारियों को मिलेगी।

सीएम ने की मां भाराड़ी की पूजा 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण पहुंचते ही सबसे पहले भराडीसैंण स्थित मां भाराड़ी के मंदिर में पूजा-अर्चना की।
सीएम ने मां भाराड़ी से प्रदेश की खुशहाली की कामना की। इस दौरान मंत्रीगण व विधायक मौजूद रहे।

जानो उत्तराखंड : दुर्मीताल में उठाएंगे नौकायन का लुत्फ 

50 साल बाद निजमूला घाटी के दुर्मीताल को फिर से पहचान मिल सकेगी। वर्ष 1971 में अतिवृष्टि से दुर्मीताल टूट गया था। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि दुर्मीताल का सर्वेक्षण करने के बाद यहां फिजीबिलीटी के आधार पर मत्स्य पालन, नौकायन और विद्युत उत्पादन के लिए मल्टीपरपज तालाब का निर्माण किया जाएगा।

सीएम  त्रिवेंद्र ने की घोषणाएं
-गैरसैंण में कौशल विकास योजना के अंतर्गत सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना की जाएगी।
–  नगर पंचायत गैरसैंण में आंतरिक मार्गों और नालों के निर्माण को स्वीकृति।
– नगर पंचायत गैरसैंण के लिए 3500 लीटर क्षमता के ट्रैक्टर ट्राली और टैंकर क्रय करने की स्वीकृति।
– गैरसैंण में मशरूम कंपोस्ट उत्पादन यूनिट की स्थापना की जाएगी।
– राइंका गैरसैंण में दो मॉडर्न आदर्श लैब को स्वीकृति।
– बचपन प्रोजेक्ट के तहत चमोली जिले के 40 आंगनबाड़ी केंद्रों को शामिल किया जाएगा। 
– जोशीमठ में बड़ागांव के हनुमानशिला से औली पहुंचने के लिए वैकल्पिक मोटर मार्ग का निर्माण।
– जीजीआईसी गोपेश्वर में भूस्खलन के ट्रीटमेंट, पानी की निकासी व दो कक्ष निर्माण को स्वीकृति।
–  क्लोनल रूट स्टॉक पर आधारित उच्च तकनीक युक्त आदर्श सेब बागान की स्थापना की जाएगी।
–  कर्णप्रयाग मंडी, जोशीमठ के बड़ागांव और घाट के सलबगढ़ में कोल्ड स्टोरेज की स्थापना की जाएगी।
–  कर्णप्रयाग-नौटी-पैठाणी मोटर मार्ग से ग्राम गैरोली तक मोटर मार्ग नव निर्माण के दूसरे चरण के 3 किमी को स्वीकृति। 
– गैरसैंण एवं निकटवर्ती क्षेत्र की पंपिंग पेयजल योजना को स्वीकृति।
राज्य स्तरीय घोषणाएं
-500 सर्वाधिक पलायन वाले ग्रामों में स्थित स्वयं सहायता समूह को ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा।
– जनपद स्तरीय विकास प्राधिकरणों द्वारा भवन निर्माण के नक्शे आसानी से होंगे पास।
– शहरी इलाकों में 100 रुपये में पेयजल कनेक्शन।
– भ्रष्टाचार से लड़ने हेतु एक टोल फ्री हेल्प लाइेन की स्थापना
-महिलाओं व बच्चों मुख्यमंत्री सौभाग्यवती योजना का प्रारंभ।
– राज्य की निर्यात नीति बनाई जाएगी।
– राज्य के सीमांत इलाकों में पुलिस आउटपोस्ट बनाई जाएगी।
– कर्मचारियों को दिया जाएगा बोनस
– नगर वन/ईको पार्क/बायोडाईवर्सिटी पार्क की स्थापना की जाएगी।
– देहरादून में साइंस कॉलेज की स्थापना।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here