पूरा उत्तराखंड दुःख के साये में है देवभूमि मे पहाड़ की बेटी को युवक ने जिंदा पेट्रोल छिड़कर जला डाला था
आज जब सीएम त्रिवेंद्र जब पीड़ता की तबियत ओर हाल जानने अस्पताल पहुंचे तो वो पल हर किसी को रुला देने वाले थे जब एक पीड़िता की मां अपने आंसू रोक नहीं पाई। वो लगातार रो रही थी और मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र को सामने देखते ही पीड़िता की मां अपनी हिमत खो बैठी ओर रविवार से दिल मे दबाये दर्द को आंखों से आँसू निकालकर बया कर डाला । एक माँ रो रही रही वो भी जोर जोर से ओर बोली
आसुओं के सैलाब में ओर पुकार उठी कि सीएम साहब मेरी बेटी को बचा लीजिये।


ये वो दुखद पल थे जब सीएम त्रिवेंद्र की आंखे भी नम हो गई थी पर जैसे तैसे मुख्यमंत्री ने पीड़िता की मां को ढांढस बंधाया और समस्त इलाज का खर्चा राज्य सरकार के उठाने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि धीरज धरो, पूरी ताकत लगा देंगे बिटिया को बचाने में। आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है। सरकार चाहेगी कि उसे सख्त से सख्त सजा मिले।
सीएम ने पीड़िता की गंभीर हालत को देखते हुए उसे एम्स ऋषिकेश से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर करने का निर्णय लिया। इस दौरान उन्होंने पीड़ित छात्रा का इलाज कर रहे डॉक्टर्स की टीम से छात्रा की रिपोर्ट के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बताया कि पीड़िता बुधवार को एअर एम्बुलेंस से दिल्ली के लिए रवाना की जाएगी। 

आपको तो मालूम ही है कि एक तरफा प्यार में पागल ओर हैवान बना युवक बेहद निर्दयी था ओर उस सरफिरे कि बातें सुनाते समय आग में झुलसी युवती की मां की आंखे भर आईं। पीड़िता की मां ने खुलासा किया कि उनकी बेटी को आग के हवाले करने के बाद खुद आरोपी मनोज सिंह ने उन्हें फोन करके बताया और फोन पर यह भी कहा कि मैंने तुम्हारी बेटी को आग लगा दी है, अब तुम बचा सकते हो, तो बचा लो।
पीडिता की माँ ने बताया कि आरोपी मनोज सिंह उर्फ बंटी ने दो साल पूर्व में उनकी बेटी के साथ बदसलूकी की थी। इस पर उनकी बेटी ने आरोपी मनोज को सबके सामने फटकार लगाई थी। इसी बात का बदला लेने को आरोपी मनोज ने रविवार को इस घटना को अंजाम दिया।

युवती की मां ने राज्य सरकार से मांग की है कि आरोपी को फांसी की सजा दिलाई जाए। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना राज्य में दोबारा से न घटित हो, इसके लिए राज्य सरकार आरोपी को या तो फांसी की सजा दें या फिर आरोपी को जनता के हवाले करें।
वही कल महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास राज्यमंत्री रेखा आर्य सोमवार को युवती का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंची। उन्होंने युवती के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए चिकित्सकों को उपचार में कोई की कमी न करने को कहा।
राज्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार छात्रा व उसके परिजनों के साथ है। छात्रा के परिजनों को हर प्रकार से मदद की जाएगी।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here