सीएम त्रिवेन्द्र के इस फैसले से जनता को मिली रही है राहत , थैंक्यू सीएमएस डाॅ बीसी रमोला सर

246

देहरादून।
राजधानी देहरादून का जिला अस्पताल बनने की ओर तेज़ी से अग्रसर है कोरोनेशन और गांधी शताब्दी अस्पताल।


जहा की व्यवस्थायें पहले के मुकाबले काफी बेहत्तर हुई हैं। आपको बता दे कि इन अस्पतालों मै मरीजों को मिलने वाली तमाम व्यवस्थाओं में सुधार तेज़ी के साथ हुआ है। और इसका श्रेय जाता है सिर्फ और सिर्फ अस्पताल के नवनियुक्त सीएमएस डाॅ बीसी रमोला सर को। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सरकार ने वरिष्ठ नेत्र सर्जन बीसी रमोला की कार्यशैली पर भरोसा जताते हुए कुछ समय पहले उन्हें कोरोनेशन और गांधी अस्पताल की जिम्मेदारी सौंपी।


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत का ये फैसला महत्वपूर्ण था , मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ओर स्वास्थ मंत्री त्रिवेन्द्र रावत जानते थे कि डाॅ बीसी रमोला ही वो व्यक्ति है जो कुशल नेतृत्व कर अच्छा रिजल्ट दे सकते है । ओर फिर डॉ रमोला सर भी सीएम त्रिवेन्द्र सरकार के भरोसे पर खरा उतरे ओर इन दोनों अस्पतालों में तमाम व्यवस्थाओं में सुधार किया। साथ ही मरीजों को मिलने वाली सुविधाओं में काफी ईजाफा भी किया। अब आलम ये है कि इन दोनों अस्पतालों में पहले के मुकाबले मरीजों की संख्या में ख़ास ईजाफा हुआ है।

मरीज और उनके परिजन भी अस्पताल में मिलने वाली सुविधाओं से संतुष्ट नजर आ रहे हैं।  डाॅ बीसी रमोला ने दोनों ही अस्पतालों में सुधार के लिये युद्वस्तर पर कार्य किये है जो लगातार जारी भी है। जिसके लिए उन्होंने अपने सहयोगियों का भी सहारा लिया। मरीजों को बेहत्तर ईलाज और स्वास्थ्य से जुड़ी सरकार की योजनाओं की जानकारी मिल सके इसके लिये प्रयास किये। इसके साथ ही सरकारी धन का दुरूपयोग रोकने के लिये बेहिसाब खर्चाें पर लगाम लगाने का कार्य भी किया। डाॅ बीसी रमोला के प्रयासों का ही परिणाम है कि काॅयाकल्प सहित कई योजनाओं का लाभ अब अस्पताल को मिल रहा है ओर यहां आने वाले मरीज़ खुश है उन्हें कोई शिकायत नही है।यहां के स्टाफ से
वही सफाई व्यवस्था पर मुख्य फोकस रहा है
डाॅ बीसी रमोला का अस्पतालों की स्वच्छता पर विशेष फोकस रहता है। इसी के तहत कोरोनेशन अस्पताल में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने के लिये ढाई लाख रूपये की आॅटोमैटिक मशीन मंगाई गई है। यह मशीन अस्पताल के प्रत्येक तल पर जाने में सक्षम है। इसके साथ ही यह अकेली मशीन पांच सफाई कर्मियों के बराबर काम एक साथ करने में सक्षम है। इस मशीन के लगने के बाद अस्पताल और ज्यादा साफ सुथरा नजर आयेगा।
प्रशिक्षु चिकित्सकों को देते हैं टिप्स
डाॅ बीसी रमोला समय-समय पर अस्पताल में आने वाले प्रशिक्षु चिकित्सकों से मुलाकात करते रहते हैं। डाॅ बीसी रमोला प्रशिक्षु चिकित्सकों को बेहतर चिकित्सा सेवा प्रदान करने के लिये उन्हें गुर सिखाते रहते हैं। डाॅ रमोला प्रशिक्षु चिकित्सकों से न सिर्फ स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सवाल करते हैं। बल्कि प्रशिक्षु चिकित्सकों के तमाम सवालों का जवाब देकर उन्हें संतुष्ट भी करते हैं।
कोरोनेशन अस्पताल में बढ़ाए गए 10 बेड
मौजूदा गर्मी और आगामी बरसात के सीजन के मद्देनजर कोरोनेशन अस्पताल में 10 बेड बढ़ाए गये हैं। अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ बीसी रमोला ने बताया कि तीन दिन पूर्व अस्पताल के अधिकारियों ने बैठक की थी। इसमें आगामी सीजन में होने वाली बीमारियों के बारे में चर्चा हुई। पिछले सालों के रिकाॅर्ड को देखते हुए इस बार भी आशंका है कि मरीजों की संख्या में इजाफा हो सकता है। लिहाजा अस्पताल में बिस्तरों को बढ़ाने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही गुरूवार शाम को कोरोनेशन अस्पताल में 10 बेडों की संख्या बढ़ा दी गई है। डाॅ रमोला ने बताया कि आगामी समय में और अतिरिक्त बेड भी बढ़ाए जा सकते हैं। वर्तमान में कमरों के अलावा छोटे-छोटे बरामदों में  बेड की व्यवस्था की गई है। साथ ही मरीजों की सुविधा को देखते हुए यहां कूलर और पंखों की व्यवस्था भी की गई है।
बहराल जिस तरह से हमारे पहाड़ पुत्र डॉक्टर रमोला सर ने अस्पतालों की दशा सुधारी , ओर उनके दिशा निर्देश मै स्टाफ भी खुश है तो बेहतर रिजल्ट भी मिल रहा है जिसके लिए बोलता उत्तराखंड डंके की चोट पर कहता है कि डॉक्टर रमोला को कमान देना सीएम त्रिवेन्द्र का महत्वपूर्ण फैसला आज रंग लाया रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here