मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत: बोले
अटल व मोदी जी की कैबिनेट के मजबूत स्तंभ थे अरुण जेटली

आपको बता दें कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में वित्त मंत्री का सफल कार्यभार संभालने वाले अरुण जेटली के निधन से पूरा उत्तरांखड शोकाकुल हो गया है राज्यपाल बेबीरानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।


बता दे कि राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने स्व. जेटली की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए दुःख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना प्रदान करने की कामना की है।उन्होंने कहा कि वह एक लोकप्रिय नेता, कुशल प्रशासक, प्रखर वक्ता और प्रसिद्ध विधिवेत्ता थे। उन्होंने सार्वजनिक जीवन की प्रत्येक भूमिका में सदैव सर्वश्रेष्ठ आदर्शों का पालन किया। उनके निधन से देश को अपूरणीय क्षति हुई है।
वही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी शोक व्यक्त करते हुए कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली जी के आकस्मिक निधन की खबर से स्तब्ध हूं। ईश्वर से प्रार्थना है दिवंगत आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें। जेटली जी, अटल और मोदी जी की कैबिनेट के मजबूत स्तंभ थे। आर्थिक, कॉर्पोरेट और कानून के मामलों पर उनकी विशेषज्ञता की कमी देश को खलेगी।


तो उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि अरुण जेटली जी को हर राजनीतिक विषय पर अपने स्पष्ट विचारों एवं वाकपटुता के लिए जाना जाता था। जेटली जी सिद्धांतों के बड़े पक्के इंसान थे। उनका जीवन विलक्षण उपलब्धियों से भरा रहा। जेटली का राजनीतिक सफर एक विजेता योद्धा जैसा है, जिसमें उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। वह लोकतांत्रिक मूल्यों को संरक्षित करने के लिए अडिग रहे। वह सरकार में रहे हों या विपक्ष में, हमेशा लोकतांत्रित मूल्यों के लिए लड़े। विस अध्यक्ष ने उनके परिवारजनों एवं समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) की हालत शुक्रवार से ही बिगड़ गई थी


बता दे कि जेटली को सांस लेने में तकलीफ होने के कारण उनको नौ अगस्त को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था. उनका गुरुवार को डायलसिस किया गया था.

शुक्रवार को भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती ने एम्स पहुंचकर अरुण जेटली के स्वास्थ्य की जानकारी ली थी इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सहित कई वरिष्ठ नेता ने एम्स पहुंचकर जेटली का हालचाल ले चुके थे
आपको बता दें कि सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी की शिकायत के बाद नौ अगस्त को उन्हें एम्स में भर्ती किया गया था. इस साल मई में जेटली (Arun Jaitley) को इलाज के लिये एम्स में भर्ती कराया गया था


जेटली पेशे से एक वकील थे और वह भाजपा सरकार के पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल का अहम हिस्सा रहे थे. उन्होंने वित्त एवं रक्षा दोनों मंत्रालयों का कार्यभार संभाला था और उन्होंने प्राय: सरकार के प्रमुख संकटमोचक के तौर काम किया था
आज वो हमारे बीच नही रहे उनका निधन आज 12 बजकर  7 मिनट पर  हुुवा



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here