मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने बुधवार को हल्द्वानी मे महिला अस्पताल के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण किया। सीएम ने कहा कि इसका लाभ जिले भर की महिलाओं को मिलेगा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि राज्य में अब तक एक हजार डॉक्टर नियुक्ति हो चुके हैं। ओर जल्द ही 500 और डॉक्टरों को नियुक्त किया जाएगी उन्होंने कहा कि डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय के लिए भी 12 विशेषज्ञों की नियुक्ति कर दी गई है। ओर इसका लाभ आमजन को मिलने लगा है। सीएम ने घोषणा को है कि मेडिकल कॉलेजों के प्रोफेसरों व सहायक प्रोफेसरों का वेतन भी बढ़ाया जाएगा।
बुधवार को सीएम ने आठ साल से हल्द्वानी में बन रहे पौने सात करोड़ की लागत के राजकीय महिला चिकित्सालय के लोकार्पण के बाद ये सारी बातें कहीं। सीएम ने कहा कि महिला अस्पताल 30 बेड का है। अब उच्चीकरण होकर 100 बेड का हो गया है इसमें 84 बेड महिलाओं के लिए और चार बेड सिक नियोनेटल इंटेंसिव केयर यूनिट और 12 बेड नियोटल इंटेंसिव केयर यूनिट के होंगे। इसके लिए जल्द ही डॉक्टरों व स्टाफ की व्यवस्था को पुरा किया जाएगा । सीएम ने डॉक्टरों की कमी दूर करने के लिए ‘माय सोशल रिस्पांसबिलिटी’ के तहत प्राइवेट डॉक्टरों की सेवा लेने की बात कही। साथ ही ये भी कहा कि ये डॉक्टर सरकारी अस्पतालों में ऑपरेशन करेंगे।
रामनगर अस्पताल को पीपीपी मोड में दिया जाएगा। यहां के डॉक्टरों को दूसरी जगह भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि तकनीकी के जरिये 43 अस्पतालों में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है। टेली रेडियोलॉजी के माध्यम से दूरस्थ के 35 स्वास्थ्य केंद्रों में एक्सरे, सीटी स्कैन, एमआरआइ व मैमोग्राफी की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं वही
शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना राज्य के लिए मील का पत्थर साबित होगा। यह अब तक की सबसे बडी हेल्थ स्कीम है। विधायक बंशीधर भगत ने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि महिला अस्पताल के लिए जल्द ही डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ के पदों का सृजन किया जाए।
सीएम ने कहा, राज्य के प्रत्येक जिला अस्पतालों में आइसीयू बनाए जाऐंगे। रामनगर, हरिद्वार समेत कई जगह इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। एक सेंटर के लिए एक करोड़ 23 लाख रुपये की व्यवस्था की गई है। सीएम ने कहा कि डीएम भी पीएचसी को टेलीमेडिसन से जोडऩे के लिए प्रयासरत हैं। राज्य में टेलीकॉर्डियोलॉजी व टेलीरेडियोलॉजी व्यवस्था भी शुरू कर दी गई है।
मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि एसटीएच में बर्न यूनिट बनेगा। कैंसर अस्पताल के लिए 150 पद स्वीकृत हो चुके हैं। एसटीएच के लिए 12 विशेषज्ञों की नियुक्ति कर दी गई है। राज्य के तीनों सरकारी मेडिकल कॉलेजों के लिए 138 असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति के लिए विज्ञप्ति निकाल दी गई है।
बहराल सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत

ओर राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी का लगातार प्रयास है कि बीमार पहाड़ को राहत मिल सके इसके लिए अनिल बलूनी लगातार केंद्र सरकार से भी बात करते रहते है और अभी हाल ही मैं पीएम मोदी को पत्र लिखकर राज्य के लिए स्वस्थ कवच की भी माग की है । जिससे जल्द बीमार पहाड़ को राहत मिलने के आसार है ।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here