मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने
अभी अभी सचिवालय मैं मीडिया से बात करते हुए कहा कि बहुत जल्द आपको ख़बर मिलेगी
आपको बता दे कि किसी भी समय अब जल्द ही कैबिनेट में खाली चल रहे तीन पद को भरा जा सकता है ।
बता दे कि इससे पहले कल
इस संबंध में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के बीच एक दौर की चर्चा हो चुकी है
कल त्रिवेंद्र ने नई दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भेंट की। ओर
इस बीच दोनों नेताओं में मंत्रिमंडल के संभावित दावेदारों के नाम पर चर्चा हुई। दावेदारों की फेहरिस्त लंबी होने से फिलहाल किसी के नाम पर सहमति नहीं बन पाई है पर ये जानकरीं तो मिल रही है की जल्द ही भाजपा हाईकमान अब जल्द कैबिनेट विस्तार के पक्ष में है।
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने मीडिया से कल कहा था कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर अभी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी सामान्य चर्चा हुई है। निकट भविष्य में मंत्रिमंडल का विस्तार होना  ही है। केंद्रीय नेतृत्व के हरी झंडी के बाद ही फैसला लिया जाएगा।
आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की मुस्कान बता रही है कि
केंद्रीय नेतृत्व ने भी अपनी हरी झंडी दे दी है ।
सूत्रों का कहना है कि यदि सीएम त्रिवेंद्र की शाह से इस मुद्दे पर सकरात्मक चर्चा हो गई तो 18 मार्च से पहले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते है
हम सभी जानते है कि त्रिवेंद्र मंत्रिमंडल में तीन रिक्त पदों के लिए दावेदारों की लंबी फेहरिस्त है। लेकिन सूत्र बोल रहे है कि मंत्रिमंडल में दो विधायक कुमाऊं मंडल के एडजस्ट किए जाएंगे। गढ़वाल मंडल के एक विधायक को मंत्री बनाया जा सकता है। दिल्ली में मीडिया से बातचीत में भी सीएम ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व से मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर निश्चित रूप से चर्चा हुई है।
बहराल हमारे सूत्र बोल रहे है कि उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जा सकता है ! साथ ही चंद्रा पन्त को राज्य मंत्री बनाया जा सकता है।
इसके साथ
मंत्री पद के लिए बलवंत भोरियाल, बिशन चुफाल, गणेश जोशी, पुष्कर धामी, मुना सिंह चौहान, हरबंस कपूर,
महेंद्र भट्ट , गोपाल रावत जैसे नाम मंत्री पद की दौड़ मैं शामिल है।देखो
किसको जगह मिल पाती हैं।

 


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here