आपको बता दे कि भाजपा हाई कमान ने उत्तराखंड राज्य की पांचों लोकसभा सीटों के लिए अपने प्रत्याशियों का एलान कर दिया है। हरिद्वार सीट से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक पर फिर से विस्वास जताया गया है। , टिहरी से माला राज्यलक्ष्मी शाह और अल्मोड़ा से अजय टम्टा पर ही विस्वास जताया जा चुका है और इनको ही दोबारा प्रत्याशी बनाया गया हैं। तीनों ही वर्तमान में इन सीटों से सांसद हैं। वही दो सीटों पर भाजपा ने अपने चेहरे बदले है।  पौड़ी सीट पर राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत और नैनीताल सीट पर प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को प्रत्याशी बनाया गया है।
भाजपा के प्रांतीय नेतृत्व की ओर से राज्य में तीन दौर के सर्वे के बाद प्रत्याशियों का पैनल 15 मार्च को केंद्रीय नेतृत्व को सौंप दिया गया था। इसमें 17 संभावित दावेदारों के नाम थे। 16 मार्च को दिल्ली में हुई भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में इन पर चर्चा भी हुई। तब उम्मीद जताई जा रही थी कि नामों का एलान हो जाएगा।
पार्टी ने राज्य में बैठक में विमर्श के बाद प्रत्याशियों के नाम फाइनल किये। हरिद्वार सीट से पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक, टिहरी से माला राज्यलक्ष्मी शाह और अल्मोड़ा से अजय टम्टा पर ही प्रत्याशी बनाये गये हैं। तीनों ही वर्तमान में इन सीटों से सांसद हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री एवं सांसद भुवन चंद्र खंडूड़ी और भगत सिंह कोश्यारी के चुनाव न लड़ने के एलान के बाद इन सीटों पर प्रत्याशी चयन के लिए पार्टी को खासी मशक्कत करनी पड़ी है। पौड़ी सीट पर राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत और नैनीताल सीट पर प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट को प्रत्याशी बनाया गया है।

1 माला राज्य लक्ष्मी शाह, सांसद (टिहरी गढ़वाल सीट)

पार्टी-भारतीय जनता पार्टी

जन्म- 23 अगस्त 1950

जन्म स्थान- काठमांडू नेपाल

पिता- स्वर्गीय. अर्जुन एसजेबी राणा

मां- रानी बिंदु देवी राणा

पति- मनुजेंद्र शाह

शादी की तारीख- सात फरवरी 1973

शिक्षा- इंटरीमीडिएट

चुनावी सफर

साल 2012 में टिहरी सीट पर हुए उपचुनाव में जीत हासिल की।

साल 2014 में माला राज्य लक्ष्मी शाह ने कांग्रेस के साकेत बहुगुणा को हराकर जीत दर्ज की थी।

1 सितंबर, 2014 के बाद से सदस्य, महिला सशक्तिकरण समिति।

सदस्य, रक्षा संबंधी स्थायी समिति।

सदस्य, परामर्शदात्री समिति, पर्यटन और संस्कृति मंत्रालय।

सदस्य, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, ऋषिकेश के शासी निकाय।

उत्तराखंड निर्माण के बाद संसद की पहली महिला सदस्य।

2 डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक, सांसद (हरिद्वार सीट)

पिता- स्व. परमानंद पोखरियाल

मां- स्व. विशंभरी देवी

जन्म- 15 अगस्त 1959

जन्म स्थान- पिनानी, पौड़ी गढ़वाल

शादी- 7 मर्इ 1985

पत्नी- स्वर्गीय कुसुमकांता  जी

शिक्षा- एमए, पीएचडी(ऑनर्स), डी. लिट(ऑनर्स), हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी श्रीनगर।

साल 1991 से साल 2012 तक पांच बार यूपी और उत्तराखंड की विधानसभा पहुंचे।

साल 1991 में पहली बार उत्तर प्रदेश में कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र से विधायक निर्वाचित। जिसके बाद लगातार तीन बार विधायक बने।

साल 1997 में उत्तर प्रदेश सरकार में कल्याण सिंह मंत्रिमंडल में पर्वतीय विकास विभाग के मंत्री बने

साल 1999 में रामप्रकाश गुप्त की सरकार में संस्कृति पूर्त व धर्मस्व मंत्री।

2000 में उत्तराखंड राज्य निर्माण के बाद प्रदेश के पहले वित्त, राजस्व, कर, पेयजल सहित 12 विभागों के मंत्री

वर्ष 2007 में उत्तराखंड सरकार में चिकित्सा स्वास्थ्य, भाषा तथा विज्ञान प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री।

वर्ष 2009 में उत्तराखंड के सबसे युवा मुख्यमंत्री।

वर्ष 2012 में डोईवाला (देहरादून) क्षेत्र से विधायक निर्वाचित।

वर्ष 2014 में डोईवाला से इस्तीफा देकर हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र से सांसद निर्वाचित।

निशंक एक कवि भी हैं।

3  अजय भट्ट  (नैनीताल सीट)

पिता का नाम – स्व. कमलापति भट्ट

माता का नाम – स्व. तुलसी देवी भट्ट

जन्म तिथि – 01-05-1961

पता – 784, गांधी चौक रानीखेत जिला अल्मोड़ा।

शिक्षा – एलएलबी

वैवाहिक स्थिति – विवाहित

पत्नी – पुष्पा भट्ट, व्यवसाय वकालत

परिवार – तीन पुत्रियां व एक पुत्र। क्रमश : मेघा भट्ट बीटेक व एमबीए (विवाहित), स्नेहा भट्ट बीटेक व एमबीए, सुनीता भट्ट वकालत पूर्ण व पुत्र दिग्विजय भट्ट एलएलबी में अध्ययनरत।

विदेश यात्राएं – कनाडा, आस्ट्रेलिया व इंग्लैंड

पार्टी से जुड़ाव – विद्यार्थी जीवन में विद्यार्थी परिषद से जुड़ाव एवं 1980 से सक्रिय सदस्य व पूर्व में पूरा परिवार जनसंघ में समर्पित।

जेल यात्राएं – डॉ. मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में उत्तरांचल राज्य प्रगति के लिए अल्मोड़ा में गिरफ्तारी, अयोध्या मंदिर निर्माण के लिए दो बार गिरफ्तारी 18-10-1990 व 26-10-1990 में, 08-12-1990 को मुलायम सिंह के अयोध्या कांड के बाद प्रथम बार सार्वजनिक तौर पर रानीखेत आगमन पर प्रबल विरोध में गिरफ्तारी एवं मुकदमा कायम।

राजनैतिक जीवन

31 दिसंबर 2015 से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

19-05-2012 से 15 मार्च 2017 तक नेता प्रतिपक्ष

2001 में अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री का दायित्व

1996 से 2000 तक विधायक रानीखेत, 2002 से 2007 तक पुन: विधायक रानीखेत

मंत्री विधान मंडल दल 2002 से 2007 तक

दो बार प्रदेश महामंत्री रहे

28-10-2009 से 25-12-2011 तक उत्तराखंड सरकार में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ सलाहकार एवं अनुश्रवण परिषद के अध्यक्ष

4 अजय टम्टा (अल्मोड़ा सीट)

पिता का नाम – स्व. मनोहर टम्टा

पत्नी का नाम- सोनल टम्टा

पत्नी का व्यवसाय – प्रवक्ता

उम्र : 47 वर्ष

शैक्षिक योग्यता – इंटर

वही तीरथ सिंह रावत भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रह चुके है वर्तमान मे भाजपा के राष्ट्रीय सचिव है और हिमाचल प्रदेश के लोकसभा चुनाव प्रभारी भी है बहराल भाजपा ने अपने पत्ते खोल दिए हैं और अब भाजपा के प्रत्याशी नामांकन करने जा रहे हैं लेकिन इस लोकसभा के चुनाव में सबसे बड़ी जंग अगर देखने को मिलेगी तो वह होगी गुरु और शिष्य के बीच की ।
बेटे और पिता के बीच की।
ये जंग सिद्धांतों की जंग है । पौड़ी लोकसभा सीट महत्वपूर्ण होगी एक तरफ जनरल खंडूड़ी के शिष्य तीरथ रावत मैदान में होंगे तो दूसरी तरफ मनीष खंडूड़ी मैदान में होगे ओर पूरे उत्तराखंड की नज़र इसी सीट पर लगी होगी



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here