बीजेपी हाईकमान का सरदर्द बनेगी, पौड़ी ओर टिहरी लोकसभा सीट !!जाने क्यों

बोलता उत्तराखंड आपको बता रहा है कि ठीक लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह उत्तराखंड में आकर आगे आने वाले लोकसभा चुनाव की चर्चा करने वाले है तो दूसरी तरफ अमित शाह के स्वागत के लिए राज्य सरकार ओर सगठन तैयारियों को अंतिम रूप दे रहा है राज्यों के दूसरे चरण के भ्रमण अभियान के तहत अमित शाह 24 जून को देहरादून आ रहे है आपको बता दे कि पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू के अनुसार इस पूरी बैठक में लोकसभा चुनाव की रणनीति पर मंथन होना है इस पूरी बैठक मे राज्य की फिर से पांचों सीटें जीतना का लक्ष्य रखा जायेगा      
प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू भी मानते है कि इस मत्त्वपूर्ण बैठक में मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों के आधार पर लोकसभा चुनाव की रणनीति बनाई जाएगी।
राष्ट्रीय अध्यक्ष की बैठक का दूसरा प्रमुख एजेंडा वे सभी सांगठनिक कार्यक्रम हैं, जिन्हें वह अपने पिछले दौरों में संगठन को दे गए थे। इनमें दलितों और पिछड़ों को पार्टी से जोड़ने का भी एक कार्यक्रम है, जिसे पार्टी को बूथ स्तर तक चलाना है। इसके अलावा केंद्र सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं के सकारात्मक पक्षों को जनता तक पहुंचाने और मोदी एप का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने पर भी शाह का फोकस रहा है। शाह इन सभी मुद्दों की कसौटी पर संगठन के रिपोर्ट कार्ड का परखेंगे लेकिन जो महत्वपूर्ण बात है वो यही है कि अमित शाह ये भी बीजेपी के नेताओ को टटोलने का काम करगे की अब तक राज्य के पांचों सांसद कितना खरा अपने काम मैं उतरे है ओर इस बार किस को कहा से उतारा जाएगा मैदान में इस पर भी अमित शाह राज्य मे बीजेपी के कुछ बड़े नेताओं से चर्चा कर सकते है क्योंकि बीजेपी हाईकमान फिर से राज्य की पांचों सीटो पर फिर से जीत दर्ज करना चाहेगा लेकिन इस बार आने वाले लोकसभा चुनाव मे सबसे बड़ी चुनोती बीजेपी के लिए ये है कि वो पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान सांसद जरनल खंडूड़ी की जगह पौड़ी लोकसभा से किस को टिकट देगे जो सीट निकालकर लाएगा क्योकि यहा से बीजेपी से टिकट मागने वाले नाम पर गौर करे तो हरक सिंह रावत , अमृता रावत , तीरथ सिंह रावत, शौर्य डोभाल , कर्नल अजय कोठियाल , ओर अगर बात नही बनी तो खुद सतपाल महाराज भी अपने लिए टिकट माग सकते है पौड़ी लोकसभा सीट से इसके अलावा और भी कही नाम है जो बीजेपी से टिकट माग रहे है अब यही चुनोती बीजेपी हाईकमान के ऊपर है कि वो यहा से किसे टिकट देती है जो बीजेपी की झोली मैं सीट लाकर दे । दूसरी चुनोती है टिहरी लोकसभा की सीट की यहा से क्या बीजेपी फिर से माला राज्य लक्ष्मी शाह को मैदान मे उतारेगी या फिर बीजेपी में शामिल पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा , या उनके पुत्र साकेत बहुगुणा को टिकट देगी क्योकि यहां पर विजय बहुगुणा अपने लिये या अपने पुत्र साकेत बहुगुणा के लिए टिकट अवश्य मागेंगे ओर इस बार बीजेपी हाईकमान के पास यहा पर उनकी बात टालने का सवाल खड़ा नही होता अब तय हाईकमान ही करेगा कि कोन कहा पर फ़ीट इसके साथ ही भगत दा की सीट यानी नैनीताल लोकसभा से किसे मैदान मे बीजेपी उतरेगा ये देखना भी जरूरी होगा वैसे माना जा रहा है कि भगत दा जिसको भी टिकट देने को कहेगे उसका टिकट पका माना जायेगा पर ये राजनीति है यहा कब कहा पर क्या हो जाये कोई नही जानता बाकी हरिद्वार लोक सभा सीट से ही रमेश पोखरियाल निशक को ही मैदान मे उतारा जायेगा !!ओर अल्मोड़ा लोकसभा सीट से अजय टम्टा मैदान मे होंगे!! इसलिए पौड़ी लोकसभा, टिहरी लोकसभा , ओर नैनीताल लोकसभा सीट से बीजेपी हाईकमान किस को टिकट दे जो चुनाव मे सीट निकलाकर ला सकते हो , ओर अंदरूनी गुटबाज़ी इन सीटों पर ना हो , ओर जिसे टिकट ना मिल पाए वो पार्टी को इन सीटों पर नुकसान ना पहुचा पाए इन सब चुनावी गुणा भाग पर अमित शाह की नज़र रहेगी और सरकार सगठन के महत्वपूर्ण लोग भी अपनी राय रखेगे फिलहाल शाह के दूंन पहुचने के इंतज़ार में बीजेपी का सगठन ओर सरकार है फिर शाह दूंन पहुच कर क्या फीड बेक लेकर वापस जायेगे ओर क्या उत्तराखंड बीजेपी को जीत का मंत्र देगे ये कुछ ही दिनों में साफ हो जाएगा लेकिन ये साफ है कि पौड़ी लोक सभा सीट ओर टिहरी सीट से किसे मैदान मे उतारा जाये ये बीजेपी हाईकमान अमित शाह के सर दर्द का कारण भी बन सकता है

Leave a Reply