देश को मिले 382 युवा सैन्य अफसर, मित्र देशों के 77 कैडेट भी हुए पास आउट।

88

भारतीय सेना में शामिल हुए 382 जांबाज अफसर, मित्र राष्ट्रों के 77 कैडेट भी पास आउट

देश की आन बान ओर शान के लिए हम है तैयार
जी हां भारतीय सैन्य अकादमी से पासआउट होकर 459 कैडेट्स शनिवार को विभिन्न सेनाओं में अफसर बन गए है
ओर फिर कदम-कदम बढ़ाए जा, खुशी के गीत गाए जा..ये जिंदगी है कौम की, तू कौम पे लुटाए जा।’ ये वही गीत है जो हर 6 महीने बाद इस गीत पर चेटवुड बिल्डिंग के सामने ड्रिल स्क्वायर पर कदमताल करते हुए जेंटलमैन कैडेट्स अंतिम पग पार कर सेना में अफसर बनते आ रहे है ।


बता दे कि शनिवार को 382 जांबाज अफसर भारतीय सेना का हिस्सा बने हैं। जबकि मित्र राष्ट्रों के 77 कैडेट्स पासआउट हुए हैं। पासआउट परेड (पीओपी) में मुख्य अतिथि दक्षिण पश्चिम कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल चेरिश मैथसन रहे। जिन्होंने परेड की सलामी ली। इससे पहले ड्रिल स्क्वायर पर कैडेट आईएमए का ध्वज लेकर ऐतिहासिक चेटवुड भवन के सामने पहुंचे।


शनिवार सुबह 6 बजकर 40 मिनट पर मार्कर्स कॉल के साथ परेड का आगाज हुआ। इसके बाद ड्रिल स्क्वायर पर कदमताल करते हुए 459 जेंटलमैन कैडेट्स चैटवुड भवन के सामने पहुंचे। इस दौरान आईएमए के आसपास का क्षेत्र जीरो जोन रहा। यातायात मार्ग को बल्लूपुर और प्रेमनगर से डायवर्ट कर दिया गया। आईएमए की सुरक्षा व्यवस्था सेना के हाथों में, जबकि शहर में यातायात की व्यवस्था पुलिस के हाथों में रही।


वही परेड की सलामी लेने के बाद साउथ वेस्टर्न कमांड के जीओसी इन चीफ चेरिश मैथसन ने कैडेट्स को ओवरऑल बेस्ट परफॉरमेंस व अन्य उत्कृष्ट सम्मान से नवाजा। सीनियर अंडर अफसर अक्षत राज को भारतीय सैन्य अकादमी के सर्वोच्च सम्मान स्वार्ड ऑफ ऑनर अवार्ड से नवाजा गया। इस दौरान अन्य अवार्ड भी दिए गए। जो इस प्रकार हैं।
गोल्ड मेडल – सुरेंद्र सिंह बिष्ट
सिल्वर मेडल – सीनियर अंडर अफसर कौशलेश कुमार सिन्हा
ब्रॉन्ज मेंडल – सीनियर अंडर अफसर अक्षत राज
टेक्निकल सिल्वर मेडल – करन सिंह
फॉरेन जीसी – शहजाद सरबाज (अफगानिस्तान)
कंपनी अवार्ड – कैनन कंपनी
बता दे कि इसके साथ ही आईएमए के इतिहास में 61536 अफसर देने का रिकॉर्ड भी जुड़ गया। इनमें 2259 विदेशी जेंटलमैन कैडेट्स भी शामिल हैं।  बता दें कि दो साल की कड़ी ट्रेनिंग के बाद ये युवा भारतीय सेना में अफसर बनते हैं।


वही इस दौरान इन युवा अफसरों के परिजन भी आईएमए में मौजूद रहे। 77 युवा सैन्य अधिकारी नौ मित्र देशों अफगानिस्तान, भूटान, मालदीव, फिजी, मॉरीशस, पपुआ न्यू गिनी, टोंगा, लेसोथो और तजाकिस्तान की सेना का अभिन्न अंग बने हैं। इस दौरान आईएमए के कमान्डेंट ले. जनरल एसके झा, डिप्टी कमान्डेंट मेजर जनरल जीएस रावत समेत कई सेवारत व सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी मौजूद रहे।
देश को मिले 382 युवा सैन्य अफसर, मित्र देशों के 77 कैडेट भी हुए पास आउट;

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here