शर्मनाक: सरकारी अस्पताल में नहीं मिली डॉक्टर, गर्भवती ने पर्ची काउंटर पर ही दिया बच्चे को जन्म

उत्तराखंड के पहाड़ पर स्वास्थ्य सेवाओं का हाल बेहाल है पहाड़ बीमार है ख़ास कर मातृशक्ति को उचित इलाज गर्भावस्था मैं नही मिलत जो बहुत दुःख की बात है सरकारों ने यहां अस्पताल तो खोल दिए गए लेकिन विशेषज्ञ डाक्टर तैनात नहीं किए गए है और नतीजन फिर मरीजों को आपात स्थिति में हायर सेंटर रेफर कर दिया जाता है। किसी की जान बच जाती है तो कोई इस बीच जिंदगी को अलविदा कह देता है।
आपको बता दे कि बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं की एक बानगी फिर जिला अस्पताल में देखने को मिली। ओर स्त्री रोग विशेषज्ञ न होने से बुड़ाखेत की गर्भवती महिला को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया लेकिन उसी समय महिला को तेज दर्द हुवा ओर महिला ने पर्ची काउंटर के पास ही एक बच्चे को जन्म दे दिया।
ख़बर है कि बाद में जिला अस्पताल कर्मियों की मदद से मां और नवजात शिशु को वार्ड में ले जाया गया। अब जच्चा-बच्चा खतरे से बाहर हैं। मुख्य चिकित्साधीक्षक डॉ. आरके जोशी ने बताया कि जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर स्थ्ति बुड़ाखेत गांव की गर्भवती भवानी देवी पत्नी दिनेश राम को सोमवार सुबह अस्पताल लाया गया था।
वही डॉ. वर्षा का कहना है कि महिला को हायर सेंटर रेफर किया गया था। मौके पर मौजूद सीएमओ डॉ. आरपी खंडूरी ने 108 को कॉल किया। पति का कहना है कि पत्नी नीचे उतरी और कुछ ही देर पर्ची काउंटर के पास बेटे को जन्म दिया।
डॉ. वर्षा ने बताया कि गर्भवती महिला को रक्तश्राव हो रहा था। शिशु का वजन भी सामान्य से करीब डेढ़ किलो ज्यादा था। बाद में महिला को वार्ड में शिफ्ट किया गया। जानकरी अनुसार महिला की यह छठी संतान है। ओर इससे पहले दंपती की पांच बेटियां हैं।
आपको बता दे कि चंपावत जिले में छोटे-बड़े कुल 23 सरकारी अस्पताल हैं, लेकिन जिला अस्पताल सहित किसी भी अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ नहीं हैं। एक साल पूर्व जिला अस्पताल में गायनाकोलोजिस्ट थीं, लेकिन उन्हें प्रतिस्थानी के आए बगैर कार्यमुक्त कर दिया गया। और जिस गायनोकोलोजिस्ट को यहां भेजा गया था, वह यहां कभी आई नहीं। सीएमएस डॉ. आरके जोशी का कहना है कि हर महीने उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा जा रहा है।
बहराल मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत जी उम्मीद करते है कि आप पहाड़ की स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरस्त करने के लिए कुछ बढ़े कदम उठाएंगे ।ओर डॉक्टरों को पहाड़ चढ़ाएंगे।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here