पुंछ में एलओसी पर पाक गोलाबारी में पहाड़ का लाल जवान शहीद ,पूरे गांव में शोक की लहर।

बता दे कि पुंछ जिले के मेंढर सब डिवीजन में भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी में हिमाचल का जवान शहीद हो गया।
शनिवार तड़के अग्रिम चौकी पर तैनात हमीरपुर जिले के गांव गलोड़ खास के जवान रोहिन कुमार पुत्र रसील सिंह के पास पाक गोलाबारी के दौरान एक मोर्टार आकर गिरा, जिससे वह शहीद हो गए।
बता दे कि
साल 2016 में रोहिन कुमार 14 पंजाब रेजिमेंट में भर्ती हुए थे।

वही शनिवार दोपहर बाद शहीद की पार्थिव देह सेना के हेलीकॉप्टर से घर पहुंचा
इसके बाद सैनिक और राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।
रोहिन माता-पिता का इकलौता बेटा था और नवंबर में उनकी शादी होनी थी।
व उनकी बहन की शादी हो चुकी है।
दुखद राखी से दो दिन पहले भाई के बिछुड़ने का गम बहन राखी को जिंदगी भर सताता रहेगा।

खबरों के अनुसार
सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि रोहिन बहुत बहादुर और निडर सैनिक थे।
पहाड़ के लाल रोहिन की स्कूली शिक्षा गलोड़ और हड़ेटा के स्कूलों से हुई थी। उसके बाद डिग्री कॉलेज हमीरपुर से आगे की पढ़ाई पूरी की। उनके पिता रसील सिंह पंजाब में हलवाई का काम करते हैं और कोविड-19 लॉकडाउन के चलते घर पर ही हैं।

रोहिन के घर पर उनकी शादी की तैयारियां चल रही थीं। कुछ दिन पहले माता-पिता ने बेटे की शादी के लिए हमीरपुर बाजार में सामान भी खरीदा था, लेकिन बेटे की शहादत से शादी की खुशियां गम में बदल गईं।
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकी मुठभेड़ में हमीरपुर के जवान रोहिन कुमार की शहादत पर शोक जताया। उन्होंने कहा कि जवान की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।

शहीद रोहिन कुमार अमर रहे…पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों के साथ पूरा गलोड गूंज उठा।
रोहिन की पार्थिव देह शनिवार 4 बजकर 40 मिनट पर पठानकोट से सेना के चॉपर से नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी हमीरपुर के हैलीपेड पर पहुचा
यहां पर एडीएम जितेंद्र सांजटा, एसडीएम डॉ. चिरंजी लाल चौहान, डीएसपी जसवीर कुमार, एसएचओ संजीव गौतम समेत पुलिस और सेना के जवानों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी।
एनआईटी से पार्थिव देह को गलोड पहुंचाया गया। गांव में शहीद की पार्थिव देह पहुंचते ही सैकड़ों की संख्या में सड़क के किनारे खड़े लोगों ने शहीद पर फूल बरसाए और शहीद रोहिन कुमार अमर रहे, देश के सपूत तुझे सलाम..पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। घर के आंगन में जैस ही पार्थिव देह पहुंची तो माता, पिता, बहन, ताया और ताई समेत अन्य परिजन बेसुध हो गए। इसके बाद श्मशानघाट पर पठानकोट से आई सेना की टुकड़ी और पुलिस के जवानों ने शहीद रोहिन को सलामी दी।
ओर फिर शहीद रोहिन कुमार का पूरे सैन्य एवं राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। रोहिन कुमार के पार्थिव शरीर को उनके चचेरे भाई (ताया के लड़के) मोहित कुमार ने मुखाग्नि दी। इस अवसर पर कैप्टन रूपेश राठौर के नेतृत्व में सेना की टुकड़ी ने सैन्य परंपराओं के अनुसार शहीद को सलामी देते हुए अंतिम विदाई दी।
आदर्श व्यापार मंडल गलोड़ ने शहीद रोहिन कुमार की शहादत पर शनिवार को गलोड़ बाजार बंद रखा। बुधवीं चौक पर समस्त व्यापारियों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी और पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की। व्यापार मंडल के प्रधान कमल सोनी ने गलोड़ बाजार को 3 बजे बंद करने के दिशा निर्देश दिए।
सभी दुकानदारों ने बुधवीं चौक पर खड़े होकर शहीद को सलामी दी। इस मौके पर आसपास के गांवों के लोग भी उपस्थित रहे। स्थानीय दुकानदारों में सुनील कुमार, अशोक कुमार, देशराज, करनैल सिंह, रमेश कुमार, होशियार सिंह, पवन कुमार, प्रकाश चंद, शशि कुमार, अरविंद कुमार, विजय कुमार, राजकुमार, राकेश कुमार, नरेश कुमार, सतीश कुमार आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here