बेगुनाह 48 लोगो की मौत अब तबादले ओर जाग गयी सरकार !!

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत पौड़ी गढ़वाल बस हादसे के बाद लापरवहाई करने वालो पर गुस्से मैं है ओर एक्शन मोड़ मैं भी लगते है त्रिवेन्द्र रावत उतरा पंत बहुगुणा मोड़ से बहार निकलर कर आये है                                 उन्होंने रविवार के दिन पौड़ी गढ़वाल के धूमाकोट के पास हुई बस दुर्घटना में प्रथम दृष्टिया लापरवाही बरतने के लिये एस.ओ. धूमाकोट व उस क्षेत्र के ए.आर.टी.ओ. को निलम्बित करने के निर्देश मुख्य सचिव को दिये है। यही नही
मुख्यमंत्री द्वारा लोक निर्माण विभाग को राज्य की सड़कों की मरम्मत के भी निर्देश दिये गये है। उन्होंने भारी बारिश व मानसून के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषकर पर्वतीय क्षेत्रों में प्रत्येक 03 कि.मी. पर 01 जे.सी.बी. की व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये है।
उन्होंने कहा रविवार को हुई बस दुर्घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिये गये है। इस दुर्घटना के लिये जो भी अधिकारी/कर्मचारी दोषी पाया जायेगा, उनके विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये है कि आपदा के दौरान प्रदेश में हेली सेवा प्रदान करने वाली कम्पनियों द्वारा त्वरित सेवा प्रदान करने में लापरवाही बरते जाने पर उनके विरूद्ध भी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। इसके निर्देश भी नागरिक उड्डयन विभाग को दिये गये है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश आगामी एक दो दिन भारी वर्षा की आशंका के दृष्टिगत शासन व प्रशासन के अधिकारियों को स्थितियों पर नजर रखने के निर्देश दिये गये है। इसके साथ ही मुख्य्मंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने पौड़ी बस दुर्घटना मैं लापरवहाई के लिए छोटे से लेकर बड़े अधिकारियों तक का तबादला कर डाला आपको बता दे कि 32 घंटे बाद मुख्यमंत्री ने की पौड़ी बस हादसे पर कार्यवाही की एसओ धुमाकोट और एआरटीओ धूमाकोट पौड़ी पर गिरी गाज
मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव उत्पल कुमार को दिए इन्हें सस्पेंड करने के निर्देश। 
इसके साथ ही डीआईजी गढ़वाल पुष्पक ज्योति हटाये गए ओर अजय रौतेला को नया डीआईजी गढ़वाल बनाया गया   
साथ ही गढ़वाल कमिश्नर दलीप जवालकर को भी बदला गया है ओर उनकी जगह शैलेश बौगोली को बनाया गया गढ़वाल आयुक्त गढ़वाल। आपको फिर बता दे कि दिलीप जावलकर को गढ़वाल मंडल आयुक्त के पद से हटाया गया ओर आईएएस शैलेश बगौली को बनाया नया गढ़वाल मंडल का आयुक्त बनाया गया
पौड़ी में हुए बस हादसे के बाद आयुक्त और डीआईजी को हटाकर त्रिवेन्द्र रावत ने बड़ा फेरबदल किया है फिलहाल त्रिवेन्द्र सरकार पर दबाव था लिहाज उन्होंने छोटे से लेकर बडे अधिकारी के तबादले कर डाले है अब देखना ये होगा की आगे सरकार और क्या कदम उठाती है

Leave a Reply