उत्तराखंड के बालिका निकेतन में किशोरी की मौत दुःखद, अपनी माँ की कर दी थी हत्या

284

उत्तराखंड के बालिका निकेतन में किशोरी की मौत दुःखद

बता दे कि देहरादून के बालिका निकेतन में मां के कत्ल के आरोप में बंद किशोरी की बुधवार शाम संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। वह बाथरूम में बेहोशी की हालत में मिली थी।वही पुलिस सूत्रों का दावा है कि जांच में फांसी लगाने की बात सामने आ आई है । जिसे अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकाें ने उसे मृत घोषित कर दिया। ओर उसकी मौत की वजह बृहस्पतिवार यानी आज पोस्टमार्टम के बाद ही साफ हो पाएगी। ख़बर है कि उसे तीन मई को हरिद्वार से यहां स लया गया था। कल देर शाम एसडीएम सदर कमलेश महता और सीओ जया बलूनी ने भी बालिका निकेतन पहुंचकर कर्मचारियों के बयान लिए।
तो वही जिला प्रोबेशन अधिकारी मीना बिष्ट ने बुधवार शाम साढे़ सात बजे के करीब पुलिस को सूचना दी कि बालिका निकेतन में बंद हरिद्वार निवासी किशोरी बेहोशी की हालत में मिली है। फिर कर्मचारी उसे तुरंत दून अस्पताल ले गए, जहां पर उसे डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया गया। दूसरी तरफ पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे ने बताया कि किशोरी पर अपनी मां की हत्या का आरोप था। तीन मई को अदालत के आदेश पर उसे हरिद्वार नारी निकेतन से बालिका निकेतन लाया गया था। फिलहाल शव को दून अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है। इस संबंध में पुलिस ने संबंधित सभी कर्मचारियों से पूछताछ भीकी।
वही
आरोप है कि किशोरी ने 19 सितंबर की रात पाठल से अपनी मां सावित्री देवी की गर्दन, सिर और हाथ पर अनगिनत वार कर हत्या कर दी। ओर खून से सने कपड़े बदलकर वह उसी रात घर से बाहर निकल गई थी।
फिर पाठल को झाड़ियों में फेंकने के बाद वह बस से पंजाब भाग गई थी। कनखल पुलिस ने उसे 25 सितंबर को गिरफ्तार कर हत्याकांड का खुलासा कर दिया था। किशोरी का दावा था कि जिस्म फरोशी के धंधे में धकेलने के कारण उसने मां की हत्या की थी।
बहराल जो भी आजतक हुवा वो दुःखद है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here