बाघ ने फिर एक ओर जान ले ली दहशत मे गाँव वाले

ख़बर नैनीताल जिले के रामनगर से है जहा अपने बेटे के साथ जंगल मे लकड़ी लेने गए व्यक्ति पर बाघ ने घातक हमला कर उसे मार डाला। ओर लगभग काफी समय तक खोजबीन करने के सात घंटे बाद उसका शव बरामद हुआ।आपको बता दे कि जंगल में बेटे के साथ लकड़ी लेने गए एक व्यक्ति पर बाघ ने हमला कर उसे मार डाला। खोजबीन के दौरान सात घंटे बाद उसका शव बरामद हुआ। इस पुरी घटना से ग्रामीणों में आक्रोश पनप गया है। वन विभाग ने शव को कब्जे में लेने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया। काफी देर बाद शव को वन चौकी लाया गया आपको बता दे कि
मालधन मोहननगर निवासी वीरेंद्र सिंह उर्फ चीता (42) पुत्र श्रीकरतार सिंह मंगलवार सुबह 10 बजे अपने बेटे सुनील के साथ जलौनी लकड़ी लेने जंगल गये थे तब उसने बेटे से कहा कि जंगल से काटकर लाई गई लकड़ी को वह साइकिल में रखकर घर ले जाएगा। यह कहकर वह लकड़ी काटने के लिए निकल गया। एक घंटे तक जब वह लकड़ी लेकर नहीं आया तो बेटा वापस घर आ गया। दोपहर में भी वीरेंद्र घर नहीं आया तो परिजनों को चिंता सताने लगी। परिजनों ने सुनील से दोबारा पिता के बारे में पूछा।
तो बेटे ने बताया कि जहां वह खड़ा था, उधर किसी जानवर की आवाज सी आ रही थी। इस पर परिजनों ने गांव वालों को सूचना दी। इसके बाद वन विभाग की चौकी में भी जानकारी दी गई। इसके बाद परिवार के लोग व वनकर्मी उसे ढूंढने जंगल गए। घर से करीब एक किलोमीटर दूर जंगल में शाम पांच बजे उसका शव झाड़ी में बरामद हो गया। उसके गले में बाघ के दांतों के गहरे निशान मिले।
आपको बता दे कि फिर इसके बाद ग्रामीण मौके पर पहुंचने लगे। पूर्व ब्लॉक प्रमुख बसन्ती आर्य, प्रधान बलदेव गोपाल, रमेश पंडित, जयहिंद राम भुवन चंद्र, ओमपाल चौधरी, भजन सिंह, वजीर अली आदि ने बाघ को आदमखोर घोषित कर उसे मारने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बाघ के आतंक से ग्रामीणों में दहशत है।
बहराल ये कोई पहला मामला नही है बोलता उतराखंड लगातार बोल रहा है कि आये दिन बाघ किसी ना कि पहाड़ी जिलो मे मनुष्य को अपना शिकार बना रहा है। ओर अब तक लगभग 300 से ज्यादा लोग बाघ का शिकार बन चुके है।
बहराल अब देखना ये होगा की राज्य सरकार इसका हल क्या निकलाती है ।एक तो पहले ही पहाड़ो से पलायन हो रहा है और ऊपर से बाघ भी लगातार मनुष्य की जान ले रहा है ।अब भला ऐसे मे फिर कोन रहेगा पहाड़।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here