उत्तराखण्ड के पहाड़ी जिलों के लिए ये भारी बरसात जब भी आती है ,जान माल का नुकसान कर चली जाती है , इस बीच बादल फटने की सूचना मिलना अब हम उत्तराखण्ड वालो के लिए कोई नही बात नही है ,क्योंकि अब दिल कठोर बन गया है इन खबरों को सुनते सुनते पर जब ख़बर आती है कि उस गाँव मैं उस गरीब का नुकासन हो गया , उसकी ज़िदगी भर की पूंजी, उसका मकान टूट गया ,तो किसी की आजीविका उनके मवेशी दुनिया मैं नही रहे, ओर कुछ लोगो की कभी दर्दनाक मौत की ख़बर जब सामने आती है तो ,पथर भी पिघल जाए हम तो पहाड़ी है ।कलेजा फट जाता हैं साहव , दिल तड़पता है ।दुःखद जानकारी सुनकर
है ऊपर वाले तेरे पहाड़ को बचाने मैं इनका ही अहम रोल है तू इनको इतना ना सता ,


आज रात भी टिहरी के घनसाली क्षेत्र के गांव के ऊपर जंगल मे बादल फटने की सूचना आई है , जिससे गदेरे मैं पानी बढ़ गया है तो कुछ लोग कह रहे है कि एक महिला व बच्चे का पता नही लग पा रहा है अभी तक


तो वही चमोली मैं देवाल के क्षेत्र के गांव की पहाड़ी पर बादल फटने की ख़बर है
कही ग्रामीणों की गोशाला दब गई है
तो मकानों को खतरा पैदा हो हो गया है कुछ लोग फ़िलहाल घर छोड़ कर चले गए है ,बिजली भी नही है,
तो कुछ अपना समान समेट रहे है

s d r f की टीम ओर आपदा प्रबंधन तंत्र की टीम कल रात ही मौके पर पहुँचने के लिए निकल गई थी
सुना है उन्होंने एक भेंस ओर ओर गाय को बचाया है
बहराल जब ये सब होता है तो गांव के रास्तो का टूटना , पानी ,बिजली ठप्प होना , आम बात है लिहाजा सरकारी सिस्टम को जल्द से जल्द सुविधाओ को पटरी पर लाना चाहिए ।
ओर त्रिवेंद्र सरकार से निवेदन है कि इस प्रकार की आप दा के दौरान हर प्रकार से दर्द झेलने वाले , जिनका जो नुकसान हुवा है उसकी मुवाज़ा राशि या जो भी मदद हो उसे तत्काल मिले वो किस्मत का मारा सरकारी सिस्टम
के दफ्तर ,कार्यलय ,मैं चक्कर मार मार कर ना थके, सरकार मुवाज़ा राशि देने का प्रवधान भी आज के लिहाज़ बदल जाये तो उनको राहत मिलेगी।
अब दुःख दर्द के पहाड़ की तकलीफ को है मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी आप को ही दूर करना है ।

*थराली*
चौकी देवाल के अंतर्गत ग्राम उलनग्रा, तलोर, पदमल्ला ,बामन बेरा , फलदिया गांव मे देर रात्री करीब पौने दस बजे गांव के पीछे की जंगल में बादल फटने से उक्त गांव में भारी मलवा आया है एवं फल्दिया गांव के बीचो बीच बहने वाले बरसाती गधेरों मैं भारी मलुवा आ जाने के कारण फलदिया गांव में
1-01 औरत श्रीमती श्रीमती पुष्पा देवी पत्नी रमेश राम उम्र 29 साल
2- ज्योति पुत्री रमेश राम उम्र लगभग 5 वर्ष लापता है
3- 12 मकान
4- 6 गाय
5- 1 भैंस
भी मलबे में बहने की सूचना है अन्य मकान क्षतिग्रस्त एवं ग्राम बामन बेरा में 01 गौशाला दबने इसमें 04 मवेशी के होने की सूचना है । जगह-जगह रोड ब्लॉक हो रखी है अन्य गांवों में भी मकानों एवं खेतों में काफी नुकसान है जनहानि एवं पशु हानि कि अभी सूचना नहीं है जानकारी की जा रही है पुलिस प्रशासन एसडीआरएफ मौके पर जानकारी कर लोगों को आवश्यक सुविधा मुहैया करवाई जा रही है । गांव में रह रहे 10-12 परिवारों को गांव की प्राइमरी एवं जूनियर हाईस्कूल में रहने की व्यवस्था करवाई जा रही है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here