अटल के इन 10 कदमो से भारत बना मजबूत

पूरा भारत भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी को को एक ऐसे राजनेता के रूप में याद करेगा जिन्होंने गठबंधन सरकार चलाते हुए भी मजबूत भविष्य की बुनियाद रखी 
आपको बता दे कि अटल बिहारी वाजपेयी ने न  सिर्फ केंद्र में पूरे पांच साल तक पहली गैर कांग्रेसी सरकार चलाई बल्कि इस दौरान कम से कम दस ऐसे कदम उठाए, जिनकी वजह से देश की अंतरराष्ट्रीय छवि में सुधार हुआ और भारत की अर्थव्यवस्था में मजबूती आई।

1. पोखरण परमाणु परीक्षण

अंतरराष्ट्रीय विरोधों को दरकिनार करते हुए परमाणु परीक्षण के जरिये यह जता दिया कि भारत किसी भी दबाव में नहीं झुकेगा। उन्होंने देश का आत्मविश्वास बढ़ाया कि वह हर हालात का सामना कर सकता है।

2. सर्व शिक्षा अभियान

उनकी सरकार द्वारा शुरू किया गया सर्व शिक्षा अभियान सबसे लोकप्रिय सामाजिक अभियान था, जिसमें पहली बार 6 से 14 साल की उम्र के सभी बच्चों को मुफ्त प्राथमिक शिक्षा देने का प्रावधान किया गया था।

3. दिल्ली मेट्रो

दिल्ली सहित कई राज्यों में सार्वजनिक परिवहन का आधार बनी मेट्रो की बुनियाद उन्हीं के समय रखी गई थी।

4. स्वर्णिम चतुर्भुज योजना

देश के चारों कोनों को ऑल वेदर रोड से जोडऩे वाली यह महत्वाकांक्षी सड़क परियोजना के कारण आवागमन बहुत आसान हो गया। स्वर्णिम चतुर्भुज योजना ने चेन्नई, कोलकाता, दिल्ली और मुंबई को हाईवेज के नेटवर्क से जोडऩे में मदद की।

5. विनिवेश मंत्रालय

वाजपेयी की सरकार ने पहली बार एक अलग से विनिवेश मंत्रालय का गठन किया। इसके तहत घाटे में चल रहे सार्वजनिक उपक्रमों की हिस्सेदारी बेची जानी थी। यह कदम इस विचार से प्रेरित था कि सरकारों का काम उद्योग-धंधे चलाना नहीं है।

6. ऑपरेशन विजय

सीमा रेखा को पार किए बिना पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए शुरू किए गए इस सैन्य अभियान (कारगिल युद्ध) को भला देशवासी कैसे भूल सकते हैं।

7. लाहौर बस यात्रा

पाकिस्तान के साथ रिश्ते सुधारने के लिए फरवरी, 1999 में बस से लाहौर पहुंचे, लेकिन उधर से उन्हें कारगिल का धोखा मिला। 

8. छोटे राज्यों का गठन

झारखंड और उत्तराखंड जैसे छोटे राज्यों का गठन कर यह संकेत दिया कि भविष्य ऐसे ही छोटे राज्यों का है।

9. संचार क्रांति

देश में संचार क्रांति लाने में भी अटल जी की अहम भूमिका रही है। वाजपेयी सरकार ने ही पहली बार टेलीकॉम फम्र्स के लिए फिस्क्ड लाइसेंस फीस को हटाकर रेवेन्यू-शेयरिंग व्यवस्था के बारे में सोचा था। टेलीकॉम डिस्प्यूट सेटलमेंट अपीलेट ट्रिब्यूनल का गठन भी वाजपेयी सरकार ने ही पहली बार किया था।

10. नदी जोड़ो परियोजना

देश भर की नदियों को जोड़कर सिंचाई से लेकर बाढ़ तक की समस्या से निपटने का सपना उन्हीं कार्यकाल में देखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here