सोशल मीडिया में चर्चाओं का बाजार गर्म, किशोर कर सकते हैं भाजपा ज्वाइन?

किशोर उपाध्याय के नेतृत्व में दिल्ली में अनिल बलूनी से मिले कांग्रेस के दर्जनभर नेता

दिल्ली। चुनावी सीजन है इस लिये इस मौसम में नेताओं को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म रहना लाजमी है। इस समय नेताओं के बयान से लेकर कब किस नेता ने किससे मुलाकात की क्या बात हुई होगी? भविष्य को लेकर क्या संभावना बन रही होगी? ऐसा तो नहीं हो रहा होगा? वैसा तो नहीं हो रहा होगा? ऐसे ही कई सवाल होते हैं जो अधिकतर मामलों में सवाल बनकर रह जाते हैं। सोशल मीडिया के आने के बाद से तो चचाओं को और भी ज्यादा बल मिला है। इस सियासी मौसम में सर्द उत्तराखंड में भी गर्मी का अहसास हो रहा है। आज सोशल मीडिया में जिस बात को लेकर चर्चाओं का माहौल गर्म है वह है दिल्ली में हुई किशोर-उपाध्याय और अनिल बलूनी की मुलाकात को लेकर। इस मुलाकात की पूरी सच्चाई क्या है यह तो हम आपको इस खबर में बिस्तार से बतायेंगे। दो दिग्गजों की मुलाकात के बात तमाम तरह के कयास लगने शुरू हो गये कि कहीं किशोर भाजपा तो ज्वाइन नहीं कर रहे? और भी कई सवाल मुलाकाता के बाद उठे हैं। फिलहाल ये मुलाकात क्यों हुई इसके बारे में विस्तार से बताया कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता संजय भट्ट ने।
कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता संजय भट्ट ने कहा कि उत्तराखण्ड कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय और उत्तराखण्ड से बीजेपी के राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी की मुलाकात 20 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड़ दिल्ली में हुई। किशोर उपाध्याय ने उत्तराखण्ड में वन अधिकार लागू करने के लिए इससे पहले अजय भट्ट, हरीश रावत, प्रीतम सिंह आदि से भी मुलाकात की है। यही नहीं प्रधानमंत्री मोदी के उत्तराखण्ड आगमन पर उनको भी वनाधिकार सम्बन्धी ज्ञापन प्रेषित किया था।
बीजेपी राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने किशोर उपाध्याय व शिष्टमंडल से ज्ञापन के 6 बिंदुओं पर कदम उठाने की बात की। वहीं कहा कि अगर ये बजट अंतरिम बजट न होता तो इस बार केंद्र सरकार उत्तराखण्ड राज्य को ग्रीन बोनस दे देती। बलूनी ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि मई-जून 2019 तक इन मांगों पर कुछ न कुछ निर्णय अवश्य लिया जाएगा। उत्तराखण्ड के वन अधिकार, उत्तराखण्डियों को आरक्षण, ग्रीन बोनस पर हुई बात, सांसद अनिल बलूनी के घर पर हुई मुलाकात, शिष्टमंडल में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, जोत सिंह बिष्ट, प्रेम बहुखंडी, सुरेंद्र रांगड, संजय भट्ट, प्रदीप भट्ट, मुकेश कोरी, पंकज रतूड़ी शामिल रहे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here