अच्छी खबर :- बौरगांव में दौडने लगा विकास के लिए सरकारी इंजन

बहुरेंगे दिन, अनिल बलूनी के गोद लिये बौरगांव में जल्द पहुंचेगी सड़क

कोटद्वार। राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी के गोद लिये बौरगांव ब्लॉक के दिन धीरे-धीरे बहुरने लगे हैं। इस गांव में एक के बाद एक विकास के सरकारी इंजन दौड़ने लगे हैं। जिसके बाद उम्मीद जगने लगे है कि गैर आबाद गांव बोरगांव को मॉडल गांव के रूप में विकसित करने के लिए सांसद अनिल बलूनी के प्रयास साकार होने लगे हैं। जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल व इको टूरिज्म बोर्ड के सदस्य प्रवीण शर्मा ने बोरगांव पहुंचकर वहां का निरीक्षण किया। डीएम ने लोनिवि दुगड्डा के अधिकारियों को सड़क निर्माण के लिए सर्वे करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बोरगांव ट्रैकिंग रूट पर लंगूरगाड़ नदी पर स्टील गार्डर पुल का निर्माण किया जाएगा। जल्द ही गांव को सड़क से जोड़ा जाएगा।

विकास का मॉडल गांव बनाने का संकल्प

गत वर्ष सितंबर में गैर आबाद की श्रेणी में आ चुके बोरगांव को राज्य सभा सदस्य अनिल बलूनी ने गोद लेते हुए विकास का मॉडल गांव बनाने का संकल्प लिया। अब तक गांव में कई एजेंसियां पहुंचकर वहां के विकास का खाका तैयार करने में जुटी हैं। इसी क्रम में सोमवार को जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने गांव का भ्रमण किया। डीएम अधिकारियों के साथ सैलानी गांव पहुंचे। सैलानी से वह पैदल ही बोरगांव पहुंचे। गांव के निरीक्षण के दौरान प्रधान वेदप्रकाश जुयाल और पूर्व प्रधान मेहरबान सिंह नेगी ने डीएम से बोरगांव को सड़क से जोड़ने की मांग की। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि जुगड़ीसेरा से भुड्डा तोक, नगोला तोक, दालमीसैंण, बोरगांव व सैलानी तक 3.5 किमी मार्ग निर्माण से आबाद गांवों को जोड़ने से यातायात सुविधा उपलब्ध होगी और क्षेत्र के अन्य गांवों से हो रहे पलायन पर भी रोक लगेगी।
जिलाधिकारी ने लोनिवि दुगड्डा के अधिशासी अभियंता निर्भय सिंह को सड़क के सर्वे करने के निर्देश दिए। वापसी में डीएम बोरगांव से दालमीसैंण के रास्ते पैदल मांडई पहुंचे। उन्होंने दालमीसैंण में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों के साथ क्षेत्र के विकास के संबंध में विमर्श किया। उन्होंने कहा कि मांडई से दालमीसैंण, बोरगांव ट्रैकिंग रूट पर लंगूरगाड़ नदी पर स्टील गार्डर पुल का निर्माण किया जाएगा।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here