मोदी सरकार के समय मिला उत्तराखंड को भरपूर स्नेह और सम्मान

अपनी जुदा कार्यशैली से जनता के बीच खासे लोकप्रिय हैं अनिल बलूनी

सांसद अनिल बलूनी ने कहा उत्तराखंड की मेधा व मिट्टी का सम्मान

देहरादून। उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी ने आज उत्तराखंड की तीन विभूतियों को पद्म पुरस्कारों द्वारा सम्मानित किए जाने पर भारत सरकार और पद्म पुरस्कारों की जूरी का आभार जताया है। श्री बलूनी ने उत्तराखंड की तीन विभूतियों को एक साथ पद्म पुरस्कार दिए जाने पर प्रसन्नता जताते हुए पुरस्कृत विभूतियों को शुभकामनाएं प्रेषित की हैं। विश्वविख्यात पर्वतारोही बछेंद्री पाल को पद्म विभूषण, प्रसिद्ध लोक गायक प्रीतम भरतवाण एवं विख्यात छायाकार (फोटोग्राफर ) अनूप शाह को पद्मश्री पुरस्कार प्रदान किए जाने की आज घोषणा की गयी। श्री बलूनी ने कहा की मोदी सरकार के समय देश में योग्य व्यक्ति और सही पात्र को पारदर्शी तरीके से सम्मान प्राप्त हो रहा है। उत्तराखंड जैसे छोटे से राज्य से तीन विभूतियों को एक साथ सम्मानित किया जाना उत्तराखंड की मेधा और मिट्टी का सम्मान है। श्री बलूनी ने कहा कि मोदी सरकार के समय निसंदेह उत्तराखंड को भरपूर स्नेह और सम्मान मिला है जिसके लिए वे प्रधानमंत्री मोदी जी का आभार प्रकट करते हैं।

उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी बेहद कम समय में अपनी जुदा कार्यशैली से जनता के बीच खासे लोकप्रिय होते जा रहे हैं। दावों और वादों से दूर अनिल बलूनी काम करने में विश्वास रखते हैं। यह बात उन्होंने खुद कई बार उत्तराखंड दौरे के समय जनता से कही कि वह नहीं उनका काम बोलेगा। वह दावों और वादों में भरोसा नहीं करते हैं। सम्पूर्ण उत्तराखंड के बेहत्तरी की बात जो सांसद निर्वाचित होने के बाद अनिल बलूनी ने कही थी वह उसे अब साकार करने में लग गए हैं। नेता हो तो बलूनी जैसा जो बोलता उतना है जितना जरूरी हो, ओर वादा ओर दावा जनता से उतना ही करते है जितना करके दिखा सकते है ओर नेताओ की तरह जूठे वादे नही करते, ओर यही उनकी पहचान उनको दुसरो नेताओ से अलग रखती है बलूनी ने राज्य के 18 सालो के सभी अब तक बने राज्य सभा सांसदों को बता दिया है कि काम कैसे किया जाता है विकास का, ओर एक नज़ीर भी पेश की है उनके लिए जो राज्य सभा सांसद है ओर तभी आज बोलता उत्तराखंड कहता है थैंक्यू अनिल बलूनी जी…



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here