अमनदीप की ससुराल वालो ने मिलकर हत्या कर दी वो भी मास्टरमाइंड प्लान से-पुलिस का खुलासा पूरी रिपोर्ट पढ़ें

मीडिया को जानकारी देते पुलिस अधिकारी
गदरपुर। पुलिस ​ने कत्ल की एक सनसनीखेज वारदात का खुलासा करते हुए विवाहिता के पति व कई अन्य परिजनों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस हत्याकांड को इतने जघन्य व सुनियोजित तरीके से अंजाम तक पहुंचाया गया कि हर कोई हैरान रह गया। विवाहिता की हत्या करने के बाद जंगल में उसके शव को जला दिया गया और सबूत मिटाने के​ लिहाज से राख को कट्टों में भरकर नदी में बहाया गया। उसके बाद बड़ी चालाकी से थाने में विवाहिता की गुमशुदगी दर्ज कर दी गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम प्रेमनगर निवासी एक युवक ने अपनी पत्नी की निर्ममता पूर्वक गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद वह लाश को कार में डालकर जंगल ले गया, जहां उसे डीजल व लकड़ी से जला दिया। राख को दो कट्टों में भरकर नदी में बहा दिया। बाद में थाने में आकर पत्नी की गुमशुदगी की झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी।

पुलिस ने इस मामले में मृतका के ससुर पति व मामा के बेटे को हत्या के जुर्म में गिरफ्तार किया है, जबकि मृतका की सास अभी फरार है। इधर एसएसपी सदानन्द दाते ने थाने में इस जघन्य हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि विगत 25 अगस्त को मृतका के पति अमनदीप सिंह ने थाने में अपनी पत्नी अमनदीप कौर की गुमशुदगी की रिपोर्ट दी थी। तहरीर में कहा गया था कि उसकी पत्नी घर से नकदी एवम जेवर लेकर कही चली गयी है। पुलिस ने जांच पड़ताल के पश्चात 29 अगस्त को अपहरण का मुकदमा दर्ज कर दिया। मृतका के परिजनों ने आशंका जताई गई थी कि उनकी बेटी को दहेज के लिए पति एवं सास, ससुर ने मार डाला है, क्योंकि वह पिछले काफी समय से प्रताड़ित कर रहे थे। एक वर्ष पूर्व उनकी पुत्री ने मेसेज भी किया था कि वह उसकी हत्या कर सकते हैं। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने इस मामले की गहराई से जाँच पड़ताल की गई तो परत दर परत मामला खुलता गया। ग्राम बेंतखेड़ी निवासी मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नी जो कि युवक के मामा का बेटा है ने बयान दिया कि अमनदीप कौर की अमनदीप सिंह, ससुर हरबंश सिंह, सास परमजीत कौर ने 22 अगस्त को गला दबाकर हत्या कर दी थी उनके द्वारा मुझे फ़ोन कर अपने घर बुलाया गया तथा घटना की जानकारी दी गई। जिसमें लाश को ठिकाने लगाने पर चर्चा हुई। बाद में रात को ही हरबंस सिंह की कार से अमनदीप कौर की लाश को बेंतखेड़ी के जंगल मे ले गए जहाँ लाश को डीजल एवम लकडी से जला दिया व राख को दो कट्टो में भरकर चनकपुर के नाले में बहा दिया उसके बाद सभी लोग अमृतसर चले गए। नियोजित षडयंत्र के तहत 25 अगस्त को थाने में गुमशुदगी दर्ज करवा दी गई। एसएसपी ने बताया कि बयान के आधार पर अभियुक्त हरबंस सिंह,पुत्र अमनदीप सिंह व मनप्रीत सिंह को हत्या, दहेज, साक्ष्य मिटाने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया है जबकि सास परमजीत कौर अभी फरार है। पुलिस ने घटना में शामिल कार एवम कुछ अन्य सामान बरामद किया है। टीम में थानाध्यक्ष ललित मोहन जोशी, उपनिरीक्षक संजय जोशी, मनोहर चन्द, सतेंदर सिंह बुटोला, ललित बिष्ट, प्रदीप शर्मा शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here