अगर जल पुलिस ना होती तो चार परिवार सदमे मे होते ! ओर इसे कहते है दोस्ती एक दोस्त को बचाने के लिए सब पानी मे डूबने लगे!

ख़बर ऋषिकेश के त्रिवेणी घाट से है जहां पर आज 4 नोजवान पैर फिसलने से गंगा नदी में डूब रहे थे की ठीक उसी पल वहां के आस पास के लोगों का शोर सुनकर तुरंत मौके पर तैनात जल पुलिस ने चारों लोगों को डूबने से बचाया. आपको बता दे कि इन चारों को जल पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित नदी से बाहर निकाला सभी ठीक है

आपको बता दे कि ख़बर है कि त्रिवेणी घाट पर गंगा में नहाते समय इन लोगो का पैर फिसल गया था बस फिर क्या था . इसी वजह से ये लोग गंगा की तेज बहाव में डूबने लगे. तब लोगो का शोर सुनकर जल पुलिस वहां पर देवदूत बनकर आये और सभी को डूबने से बचा लिया.

आपको बता दे कि जानकारी अनुसार आज दोपहर दो लड़के और दो लड़कियां ऋषिकेश घूमने आये थे ये सभी त्रिवेणी घाट पंहुचे. जब इनमें से एक गंगा में नहाने के लिए उतरा, तो उसका अचानक पैर फिसल गया तब अपने दोस्त को डूबते देख दूसरे साथी भी उसको बचाने की कोशिश करने लगे ओर उसकी मदद करने की कोशिश में वो भी नदी के तेज बहाव में बह गया.

फिर इसके बाद दोनों को बहता देख अन्य दो लोग भी उनको बचाने के चक्कर में गंगा में डूब गए. 4 लोगों के गंगा में बहने की वजह से घाट पर चीख पुकार मच गई. इसी दौरान घाट पर तैनात जल पुलिस की टीम डूबते लोगों को नदी से सकुशल बाहर निकाल लिया था
आपको बता दे कि गंगा में नहाते समय लापरवाही बरतने की वजह से आये दिन हादसे होते रहते हैं जबकि पुलिस ने त्रिवेणी घाट पर कई चेतावनी बोर्ड भी लगाए हैं, ताकि लोग हादसे का शिकार न हो और नहाते वक्त सावधानी बरतें पर उसके बाद भी हमारी खुद की गलतिया या हमारा पानी को देखते हुए वो जोश हमारी जान पर भारी पड़ जाता है जिसके लिए आप सब से बोलता उतराखंड की पूरी टीम निवेदन करती है कि आप चेतावनी ओर दिशा निर्देश का पालन जरूर करे।
ओर इन चारो लोगो की दोस्ती की तारीफ भी बोलता उत्तराखंड़ खुल कर करता है कि अपने एक के बाद दोस्त साथी को डूबता देख सभी एक दूसरे की जान बचाने के लिए इन्होंने भी अपनी जान को भी दांव पर लगा दिया ।आज कल के जमाने मे ये दोस्ती बहुत कम देखने को मिलती है ।जो कडवा सच है ।और फिर हमारी जल पुलिस ने सभी को बचा लिया इसके लिए उन पुलिस भाई लोगो को बहुत बहुत धन्यवाद की उन्होंने 4 परिवार की ज़िन्दगी वीरान होने से बचा ली ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here