अंधेरे मे क्यो है माँ गंगोत्री का धाम !पढ़े ये ख़बर

बोलता है उत्तराखंड़ कि राज्य मे इन दिनों चार धाम यात्रा बरसात होने के बाद भी अपने परवान पर चल रही है । ये सब मुख्यमंन्त्री त्रिवेन्द्र रावत के लगातार उचित दिशा निर्देश का ही परिणाम है पर सीएम त्रिवेन्द्र रावत की इस मुहिम है अक्सर राज्य के कुछ विभाग ओर अफसर अपनी लापरवाही से सरकार की किरकिरी कराते रहते है।  
आपको बता दे कि पहाड़ मे चारधाम यात्रा को सुचारू रूप से चलाने का दावे करने वाली सरकार को उसके ही अधिकारी अंधेरे में रख रहे है। ख़बर मॉ गंगोत्री धाम से जुड़ी है, जहां बीते तीनों से बिजली नहीं आ रही है। जिससे वहां के व्यापारियों के साथ धाम में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
आपको बता दे की विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम में ग्रिड की बिजली पहुंचने के बाद भी गंगोत्री मंदिर धाम समिति और स्थानीय व्यापारियों सहित होटल व्यवसायियों को आय दिन विधुत आपूर्ति ठप होने के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। गंगोत्री धाम के व्यापार मंडल अध्यक्ष शैलेंद्र सेमवाल ने बताया कि दो दिन पहले धाम में लगा बिजली को पोल गिर गया था। इस दौरान कंरट की चपेट में आने से एक खच्चर की मौत हो गई थी। जिससे कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था।
उस फॉल्ट को सही करने के लिए विभाग ने बिजली की सप्लाई बंद कर दी थी। लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद भी
फॉल्ट को ठीक नहीं किया गया। स्थानीय व्यापारी ने बताया कि गंगोत्री बाजार तो छोड़िए इसके साथ इस बार मंदिर परिसर में भी बिजली नहीं है।
आपको बता दे कि गंगोत्री धाम में उरेडा के दो पावर प्लांट है। जिनकी बिजली इस वर्ष से ग्रिड में जाने के बाद यूपीसीएल धाम में सप्लाई करता है। लेकिन गत तीन दिनों से उरेडा और यूपीसीएल के अधिकारियों की कुम्भकर्णी नींद टूट ही नहीं रही है। जिस कारण गंगोत्री धाम में व्यापारियों, होटल व्यवसायियों सहित यात्रियों को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ रही है। ओर यहा पर दुर दराज से आया भक्त राज्य सरकार को कोस रहा है । संदेश अच्छा नही जा रहा है अन्य राज्यो मे।
बोलता उत्तराखंड़ को व्यापारियों ने फोन पर कहा कि आजकल बरसात में अचानक होने वाली घटनाओं का खतरा लगातार बना रहता है। इसमें अगर कोई घटना अंधेरे में हो जाती है। तो उससे निपटना मुश्किल हो जाएगा। ओर फिर इस लापरवाही के कारण लोग सरकार को ही कोसेंगे
वही उरेडा के वरिष्ठ परियोजना अधिकारी मनोज कुमार का कहना है कि उरेडा की परियोजनायें सप्लाई के लिए तैयार है। यूपीसीएल की सप्लाई लाइन में कुछ फॉल्ट होने के कारण परेशानी हो रही है। जिसे जल्द ही ठीक कर बिजली सप्लाई शुरू कर दी जाएगी। लेकिन सवाल तो यही है कि इन अधिकारियों का जल्दी वाला शब्द कार्य के लिहाज़ा से कभी पूरा नही होता मुख्यमंत्री पूरी चार धाम यात्रा पर नज़र रख रहे है और जानकारी मिली है कि मुख्य्मंन्त्री से भी छुपाया गया है कि धाम मे 3 दिन ज़के बिजली ही नही है बहराल अब ख़बर मुख्यमंत्री तक बोलता उत्तराखंड़ पहुचा रहा है कि सर बिजली का फाल्ट जल्द ठीक करने का आदेश दो और इनको फटकार लगाओ छवि हमारी डबल इज़न की खराब हो रही है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here