आरोप लगाने वाले पर अब होगा मान हानि का दावा !

 

बोलता उत्तराखंड़   

बोलता उत्तराखंड़ आपको बात रहा है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत की धर्मपत्नी सुनिता रावत के शैक्षिणिक योग्यता को लेकर सुभाष शर्मा ने कही सवाल दागे थे सुभाष शर्मा ने तो ये तक बोल दिया था कि सुनीता रावत 12 वी पास भी नही है और उनकी मान प्रतिष्ठा को भारी क्षति पहुंचाने का प्रयास हुवा ।   प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक से लेकर सोशल मीडिया तक मे उनकी शिक्षा को लेकर हज़ारों-हज़ार टिप्पणियां सुभाष शर्मा द्वारा की गई तब टीचर सुनीता रावत ने सुभाष शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था । आपको बता दे कि बात मुख्यमंत्री से जुड़ा होने के कारण इसके छीटे सीएम की छवि तक भी पहुंचे और लोगों ने उनकी जीरो टॉलरेंस की नीति पर खूब सवाल उठाए थे तब सुनीता रावत ने सुभाष शर्मा पर मुकदमा दर्ज करवा दिया ।अब ख़बर मिल रही है कि टीचर सुनीता रावत के शैक्षिणिक प्रमाणपत्रों की जांच हुई और इनके सही पाए जाने की बात निकल कर आ रही है ।।    बस फिर क्या अब सुभाष शर्मा खुद अपने बुने जाल मे उलझ गए है । अब अपने बचाव के लिए वो क्या रस्ता निकालेंगे ये तो वो ही अभी जाने पर जानकारी मिल रही है कि अब जो सूत्र बोल रहे है कि
विश्वस्त सूत्र बताते है कि जल्द सुनीता रावत सुभाष शर्मा के खिलाफ मानहानि का दावा करने जा सकती है ।
वरिष्ठ अधिवक्ताओ की बात करे तो वो बताते हैं कि इस मामले में सीएम या उनकी पत्नी मानहानि का दावा कर सकती है। इसमें शिकायत पक्ष अपने वकील के माध्यम से कोर्ट में सेक्शन 500, 501 के तहत दावा दाखिल कर सकता है। मानहानि में फौजदारी और सिविल दोनों माध्यम से दावा हो सकता है। बहराल सीएम त्रिवेन्द्र की छवि को खराब करने का काम तो उनके मुख्यमंत्री बनते ही आरम्भ हो गया था पर अब धीरे धीरे सारी तस्वीर साफ होती नज़र आ रही है फिलहाल जानकार कहते है कि सुभाष शर्मा हो या रघुनाथ नेगी ज़िस तरह से सीएम पर आरोप हर पत्रकार वार्ता मे लगाते उसे देख के लगता है कि बात यही तक नही इससे ऊपर भी जाती  है   कि   कोई तो है इनके पीछे !या इनकी भी होगी कोई मजबूरिया जो अक्सर सुबह स्याम दिन रात त्रिवेन्द्र त्रिवेन्द्र का जाप करते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here