किसी के घर का चिराग जब भुजता है तो उस घर का दर्द बाटने वाले भले ही सैकड़ो लोग हो, पर क्या गुजरती है एक माता पिता पर ये कोई नही समझ सकता । एक दुःखद ख़बर लिख रहा हूँ क्योंकि एक नैनीताल मार्ग के भूमियाधार के आस पास की जगह हुए बहुत ही खतरनाक ओर दर्दनाक हादसे में मासूम छात्र की जान चली गई दुःखद।

ये सड़क हादसा इतना भयानक था कि देखने वालों की भी रूह कांप गई थी , उफ भगवान किसी भी माता पिता के साथ ये अन्याय ना करे । इस हादसे के बाद किसी को कुछ भी करने का मौका तक ना मिला क्योंकि इससे पहले कि कोई कुछ कर पाता छात्र ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था।। 

जो जानकारी मिली है उसके अनुसार भूमियाधार निवासी गौरव बिष्ट पुत्र प्रताप बिष्ट मोटरसाइकिल से भूमियाधार से भवाली की तरफ आ रहा था। की तभी इसी बीच अल्मोड़ा से हल्द्वानी की तरफ जा रही केएमओ की बस यूके 02पीए 0034 से उसकी बाइक टकरा गई। ओर एक बड़ा हादसा हो गया .


जिससे युवक वाहन के पहियों में जा घुसा। फिर जल्दी जल्दी मे आनन-फानन में पास ही मौजूद कुछ लोगों ने गौरव को बस के नीचे से निकाला और भवाली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। वहा चिकित्साधिकारी ने उसे मृत घोषित कर दिया। दुःखद ख़बर है कि
युवक डीएसबी परिसर में तृतीय वर्ष का छात्र था। ओर उसकी मौत के बाद पूरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है। तो पुलिस मामले की जांच में जुटी है। उस बस को लोहाली निवासी चालक बलवंत सिंह चला रहा था
इस दुखद घटना की सूचना मिलते ही भवाली अस्पताल में लोगों का जमावड़ा लग गया। कोतवाली के एसआई राजेश जोशी के अनुसार शव को पोस्टमार्टम के लिए नैनीताल भेजा गया । 
दुःखद दुःखद ओर दुःखद दिल मे दर्द होता है जब जब इन सड़क हादसों की ख़बर को लिखती हूँ । आखों से आँसू निकलते है , यहा तक कि खुद घर से निकलते समय डर डर कर सड़क पर चलती हूँ। आप से पार्थना है अपील है कि आप सब को जागरूक करे फिर वो बस वाला हो , या ट्रक वाला, या कार वाला,या बाइक वाला, तो कोई भी वाहन वाला बस ये सोचे कि आप सबके घर मे आपके अपने इंतज़ार कर रहे है जो किसी ना किसी के कुछ ना कुछ रिश्ते मे लगते है । भाई जान जाने के बाद सिर्फ किसी की भी गलतिया निकाली जाती है ।पर जिसकी जान चली गई वो वापस नही आती ।बस इस बात को ध्यान मै रखकर हम घर से निकले ठीक से गाड़ी चलाये ओर आगे पीछे चलने वाली गाड़ी पर भी नज़र रखे । सावधान रहें । यही अपील है सब से





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here