अब उत्तराखंड मैं ये सब भी होने लगा :दो सहेलिया  पुलिस कर्मी की पत्नी  संग मिलकर किशोरियों से देह व्यापार का गंदा धंधा कराती थी ,गिरफ्तार

रुद्रपुर ।
आपको बता दे कि चार दिन पहले किशोरी के अपहरण के मामले में पुलिस की गिरफ्त में आई एक पुलिसकर्मी की पत्नी अपनी दो सहेलियों के साथ मिलकर किशोरियों से देह व्यापार कराती थी। शर्मनाक ख़बर है कि सोमवार को कोर्ट में दो किशोरियों के धारा 164 के तहत दर्ज बयानों में इस बात का खुलासा हुआ है। इस पूरे मामले में पुलिस कर्मी की दो सहेलियां ख़बर लिखे जाने तक फरार बताई गई
आपको याद दिला दे कि चार दिन पहले संजय नगर खेड़ा निवासी एक नाबालिग रहस्मय ढंग से लापता हो गई थी। तब नाबालिग की मां ने गणेश गार्डन तीनपानी डैम निवासी महिला और उसकी दो सहेलियों पर नाबालिग बेटी के अपहरण का आरोप लगाया था। जिसके बाद पुलिस ने उस पर व उसकी सहेलियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। वही एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने मामले के खुलासे के लिए एसपी सिटी देवेंद्र पींचा और एसओ ट्रांजिट कैंप बीडी जोशी के नेतृत्व में टीम का गठन भी किया था। तब पुलिस ने घटना के दूसरे दिन ही महिला के घर से किशोरी को बरामद कर लिया था।
ओर इस मामले में सिपाही की पत्नी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। पुलिस को महिला के घर से एक और किशोरी भी बरामद हुई। वही सोमवार को जब पुलिस ने दोनों किशोरियों का मेडिकल कराने के बाद कोर्ट में धारा 164 के तहत उनके बयान दर्ज कराए।
तब इसमें दोनों ने महिला और उसकी दो सहेली के द्वारा देह व्यापार कराने की बात स्वीकारी। वही एसओ जोशी ने बताया कि नाबालिगों को उनके परिजनों के सुपुर्द कर तीनों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम की धारा बढ़ाई गई है। द
वही पुलिस पूछताछ में इस बात का खुलासा भी हुआ है कि आरोपित तीनों  ही तीन माह से रुद्रपुर एस्कॉर्ट सर्विस के नाम से देह व्यापार का धंधा चला रही थी। ओर ग्राहकों को तीनों व्हाट्सएप ग्रुप पर नाबालिगों के फोटो भेजती थी और सौदा तय होने पर ग्राहक दोनों सहेलियों के कमरे पर पहुंचते थे। ग्राहक के हिसाब से नाबालिगों की कीमत लगाई जाती थी। ख़बर है कि कई बार इन लोगों द्वारा नाबालिगों को रामनगर, नैनीताल व अन्य शहरों के होटलों में भी भेजा गया था।
जो जानकारी मिलीं है उसके अनुसार महिला की सहेली ने सबसे पहले देह व्यापार का धंधा शुरू किया था। इसके बाद उसने दूसरी सहेली को अपने धंधे में शामिल किया और फिर सिपाही की पत्नी को भी दोनों ने अपने साथ शामिल कर लिया। ओर सिपाही की पत्नी के साथ मिलकर उन तीनों ने उसके पति के नाम से नाबालिगों को डरा-धमकर भी गलत काम करवाना शुरू कर दिया।
ख़बर है कि फोन पर भी कई ग्राहकों से उक्त लोग नाबालिगों के लिए संपर्क करते थे जिसके चलते पुलिस तीनों के मोबाइल की भी जांच कर रही है
वही बरिंदरजीत सिंह, एसएसपी ने बताया कि नाबालिग का अपहरण करने के आरोप में एक पुलिस कर्मी की पत्नी को गिरफ्तार किया था। देह व्यापार की आशंका होने पर नाबालिगों के कोर्ट में धारा 164 के बयान दर्ज कराए गए। इसमें तीनों महिलाओं द्वारा नाबालिगों से अनैतिक देह व्यापार कराये जाने की पुष्टि हुई है। वही पुलिस कर्मी के इसमें शामिल होने के साक्ष्य नहीं मिले हैं। व आगे भी जांच की जा रही है।
बहराल इस खुलासे के बाद पूरे रुद्रपुर मैं इस बात की चर्चा आम है।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here