सुनो उत्तराखंड ख़ुश ख़बरी आई है : खेल खेलने वाले खिलाड़ियों, खेलोगे कूदेंगे तो बनोगे नवाब एसजीआरआर विश्वविद्यालय देगा आपका पूरा साथ।

609

खुश खबरी आई है।
सुनो खेल खेलने वाले खिलाड़ियों।
खेलोगे कूदेंगे तो बनोगे नवाब
एसजीआरआर विश्वविद्यालय देगा पूरा साथ।

जी हां अब एसजीआरआर विश्वविद्यालय में स्पोर्टस्
कोटे के लिए 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित हो गई है बधाई आपको
ओर सबसे बड़ी बात ये है कि स्कूल स्तर, ब्लाॅक स्तर, जिला स्तरीय, राज्य स्तरीय व राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेता खिलाडियों के लिए ट्यूशन फीस में भी 10 से 50 प्रतिशत की छूुट बधाई।

ओर अब नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ स्पोर्ट्स पटियाला (एन0आई0एस0) के कोच एसजीआरआर विश्वविद्यालय के ऐसे खिलाडियों को करेंगे तैयार।
विश्वविद्यालय के पास खेलों के लिए पर्याप्त मैदान, प्रबन्धन ने कर डाला है पूरा रोडमैप तैयार।
राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचाने के लिए खिलाडियों को कराई जाएगी पूरी तैयारी।
एसजीआरआर के कई पूर्व छात्र-छात्राओं ने राष्ट्रीय स्तर की खेलकूद की प्रतियोगितओं में कर चुके है प्रतिभाग।
आपको बता दे कि उत्तराखण्ड में खेल व खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने एक अनूठी पहल की है।

ओर अब वर्तमान सत्र से एसजीआरआर विश्वविद्यालय में प्रवेश लेने वाले स्पोर्ट्स कोटे के छात्र-छात्राओं के लिए 10 प्रतिशत सीटें आरक्षित कर दी गई हैं। वहीं स्पोर्ट्स कोटे में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को सामान्य छात्रों की तुलना में 10 से 50 प्रतिशत ट्यूशन फीस में छूट दी जाएगी। स्पोटर्स कोटे का लाभ उन छात्र-छात्रा खिलाड़ियों को ही मिल पाएगा जिन्होंने स्कूल स्तर पर, ब्लाॅक स्तर पर, जिला स्तरीय, राज्य स्तरीय या राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतिस्पर्धा में पदक जीता हो। ऐसे खिलाड़ी प्रधानाचार्य व अन्य सम्बन्धित अधिकारी का प्रमाण पत्र दिखाकर छूट का लाभ ले पाएंगे। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ पीताम्बर प्रसाद ध्यानी ने दी।


उत्तराखण्ड में खेल व खिलाडियों की अपार सम्भावनाएं को देखते हुए एसजीआरआर विश्वविद्यालय इस सत्र खिलाड़ियों के लिए लीग से हटकर कुछ अलग करने जा रहा है। विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने एथलेटिक्स, तीरंदाजी, मुक्केबाजी, बास्केटबाॅल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, फुटबाॅल, क्रिकेट, जिमनेस्टिक, हाॅकी, कराटे, शूटिंग, हैंडबाॅल, जूड़ो, ताइक्वांडो, टेनिस, वाॅलीबाॅल, रेसलिंग आदि खेलों के लिए पर्याप्त खेल मैदान तैयार करवा रहा है व साथ ही इन खेलों के खिलाड़ियों को बेहतर कोचिंग देने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ स्पोर्ट्स पटियाला से कोच हायर किए जा रहे हैं। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के खेल मैदान बनाने के लिए एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन ने कई नामचीन संस्थानों के साथ राय विमर्श किया है। इस मुहिम के पीछे एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन की यह मंशा है कि मेधावी खिलाड़ि़यों को बेहतर से बेहतर अवसर उपलब्ध कराए जाएं ताकि ऐसे खिलाड़ी राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा सकें।
एसजीआरआर प्रबन्धन के पास देहरादून में बड़े-बड़े मैदान उपलब्ध हैं। इन संसाधनों का सकारात्मक उपयोग कर खेल व खिलाड़ियों के लिए बेहतर सम्भावनाएॅ तलाशी गई हैं। एसजीआरआर प्रबन्धन ने अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप खेलकूद के मैदानों को तैयार करने के लिए एक कार्य योजना तैयार की है। यहां पर खिलाड़ियों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं व कोचिंग मिल पाएगी। एसजीआरआर विश्वविद्यालय प्रबन्धन का यह प्रयास रहेगा कि खिलाड़ियों को खेल के लिए अच्छे से अच्छे मैदान, नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ स्पोर्ट्स पटियाला के कोच व बेहतर से बेहतर खेल कूद सामग्री उपलब्ध कराई जाए। आप जल्द ही देखेंगे कि एसजीआरआर विश्वविद्यालय खिलाड़ियों को एक ऐसा मंच उपलब्ध कराएगा जहां से खिलाड़ी प्रशिक्षण लेकर राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्तराखण्ड की प्रतिभा का लोहा मनवाएंगे। ये कहा है
डाॅ पीताम्बर प्रसाद ध्यानी, ने जो
कुलपति है ,एसजीआरआर विश्वविद्यालय के।
बोलता उत्तराखंड बधाई देता है गुरु राम राय एजुकेश मिशन के पूरे परिवार को वो इसी प्रकार आगे बढ़ते रहे। इस फैसले से एक तो उत्तराखंड की प्रतिभा खुल कर आगे आएगी।
दूसरा खेल खेलने वाले खिलाड़ियों को राज्य से पलायन नही करना पड़ेगा।
तीसरा उत्तराखंड का
खिलाड़ी आगे चलकर उत्तराखंड का नाम रोशन करेगा।
ओर उनसे सिख लेकर ओर भी युवा , युवतिया आगे आएगी।
क्योंकि हमारे पास प्रीतभा कूट कूट कर भरी है बस ज़रूरत है तो उन्हें निखारने की।

जिस काम में अब गुरु राम राय एजुकेश मिशन जुट चुका है और ये सब कुछ तब ही संभव हो रहा जब देश मै ही नही अपितू विदेश मे भी गुरु राम राय दरबार साहिब की महत्वा , ओर शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र मे जलाई गई अखंड जोत के लिए लोकप्रिय हो चुके श्री महंत देवेंद्र दास जी महाराज जी लगातार पूरे गुरु राम राय एजुकेशन मिशन के  सभी अधिकारी कर्मचारियों को लगातार उचित दिशा निर्दश दे रहे है। जिसका फल सामने आ रहा है। आने वाले समय में गुरु राम राय एजुकेश मिशन हो सकता है। गुरु राम राय स्पोर्ट्स कॉलेज की नींव रखे। जिससे प्रथमिकता के तौर पर उत्तराखंड राज्य के युवा युवतियों को आगे रखा जाए।
भविष्य में उस उच्च स्तर का फुटबॉल से लेकर क्रिकेट स्टेडियम का मैदान तैयार किया जाए जिसमे राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मैच हो सके और देश विदेश से भी खेल खेलने वाले खिलाड़ी यहां आए फिर चाहे वह ग्राउंड अंतरराष्ट्रीय लेवल का क्रिकेट का स्टेडियम हो या फिर फुटबॉल का स्टेडियम या अन्य
कुल मिलाकर लोकप्रिय श्री महंत जी के मार्गदर्शन में पिछले 18 सालों मैं गुरु राम राय एजुकेशन मिशन ने लगातार शिक्षा और स्वास्थ के क्षेत्र मैं ऊचाइयों को छुवा है ।
इसके अलावा जैविक खेती पर पूरा फोकस है मिशन का ओर पहाड़ी जिलों मै बढ़ते पलायन पर लगाम लगाने के लिए भी कार्य किया जा रहा है।
बहराल राज्य की सरकार से लेकर केंद्र सरकार को भी गुरु राम राय एजुकेश मिशन का पूर्ण सहयोग करना चाइए ओर उम्मीद है कि मिल भी रहा होगा क्योकि स्वास्थ्य सेवाएं, उच्च शिक्षा की गुडवत्ता, हज़ारों लोगों को रोजगार।और अब उत्तराखंड की प्रतिभाओं को निखारने , आगे लाने की पहल ये सब कार्य राज्य की सरकरो का होता है जिसे पूरी निष्ठा, ईमानदारी से , अपना कर्तव्य समझकर गुरु राम राय एजुकेश मिशन आगे बढ़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here