उत्तराखडं से राज्यसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख पहाड़ पुत्र अनिल बलूनी ने आज जारी विज्ञप्ति में कहा की जल्द ही भारत सरकार का  नीति  आयोग
शीघ्र उत्तराखंड के 10 पर्वर्तीय जनपदों मैं एक-एक निर्जन गाँव ( घोस्ट विलेज) को गोद लेकर
उसे मॉडल विलेज के रूप में विकसित करेगा। साथ ही नीति आयोग उत्तराखंड की पलायन
की समस्या को लेकर एक उच्चस्तरीय अध्ययन रिपोर्ट भी तैयार करेगा
तथा उनके द्वारा गोद लिए गए बौर गाँव का दौरा भी करेगा।
आपको बता दे कि पहाड़ पुत्र सांसद अनिल बलूनी
लगातार उत्तराखडं में पलायन की समस्या को लेकर भारत सरकार के मंत्रालयों
और संस्थानों से निरंतर सवाद कर रहे हैं। ओर आज इस कडी में उन्होंने  नीति  आयोग के उपाध्यक्ष
श्री राजीव कुमार से भेंट की और उत्तराखडं में भयावह होती पलायन की समस्या के समाधान
के लिए नीति आयोग से सहयोग मांगा । उन्होंने नीति आयोग के उपाध्यक्ष से पलायन के
विषय पर समग्र स्टडी और उसके समाधान हेतू नीति बनाने का
आयोग से आग्रह किया।
वही पहाड़ पुत्र सांसद अनिल बलूनी ने
वन अधिनियम के कारण रुके हुए विकास कायों और मूलभूत सुविधा ना होने के कारण सरकारी कर्मचारियों , अधिकारीयो की अनुपलब्धता और स्थानीय नागरिकों के
पलायन के विषय पर चर्चा की । नीति आयोग के उपाध्यक्ष श्री राजीव कुमार ने उत्तराखडं जैसे
हिमालयी और सामरिक प्रांत के पलायन को गंभीर समस्या माना।
इस अवसर पर नीति आयोग
के ‘ अटल इनोवेशन मिशन (AIM Programme) कार्यक्रम के निदेशक डॉक्टर उन्न्त पंडित भी मौजूद थे।
ओर ख़बर है कि जल्द ही पहाड़ पुत्र सांसद अनिल बलूनी के साथ डॉक्टर पंडित बौर गाँव का दौरा भी करेंगे।
वही पहाड़ पुत्र सांसद अनिल बलूनी ने कहा कि वे जहां भारत सरकार के मंत्रालयों से सवाद कर रहे है ।वही
राज्य के जागरूक नागरिकों संस्थाओं के साथ साथ प्रवासियों से भी इस अभियान में सहयोग
की अपेक्षा रखते है।

बोलता उत्तराखंड पहाड़ पुत्र अनिल बलूनी जी को सुभकामनाये देता है और राज्य की जनता से अपील करता है ।ओर राज्य से बहार गए राज्य के नागरिकों से कहता है कि आप सब भी उत्तराखंड के पहाड को बचाने के लिए ।पहाड़ को फिर से आबाद करने के लिए अपना महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान करे।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here