मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत की पहाड़ को सौगात

244

चमोली (थराली ) से विनोद चन्दोला की रिपोर्ट

प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को नौली कर्णप्रयाग में सिमली-ग्वालदम रोड पर बीआरओ द्वारा 4.36 करोड रूपये की लागत से 45 मीटर लम्बा निर्मित मलोट ब्रिज का लोकार्पण किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने सिमली बाजार से ग्राम सिमली गांव तथा देवल से सिदोली गांव मोटर मार्ग निर्माण, गैरसैण ब्लाक के हाईस्कूल गोगना के दो कक्षा कक्षों का निर्माण, जून माह में गैरसैंण के लामबगड में आई बाढ से ग्राम लामबगड की बाढ सुरक्षा निर्माण, नौली देवथापली रतूडा अनुसूचित बस्ती तक मोटर मार्ग तथा उज्जवलपु-सैंज धारकोट घण्डियाल मोटर मार्ग निर्माण की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि ब्रिज निर्माण से क्षेत्रवासिंयों के साथ-साथ कुमाऊ क्षेत्र के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। इस अवसर पर क्षेत्रीय लोगों ने मुख्यमंत्री का जोरदार स्वागत किया गया।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार का प्रयास प्रदेश के सुदूरवर्ती क्षेत्रों तक सुविधाएं उपलब्ध कराना है। शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क व पेयजल की योजनाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिये योजनायें बनायी जा रही हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में युवा स्वरोजगार से जुडेंगे तो पलायन को रोकने में मदद मिलेगी।

कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इसे उद्योग का दर्जा दिया गया है। अब प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय के लिए उद्योगों की भांति सुविधायें मिलेंगी। उन्होंनें कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ के क्षेत्र में भी काफी कार्य किये गये हैं। कहा कि स्वयं सेवी संस्थाओं के माध्यम से चारधाम मार्ग सहित चारो धामों में चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। कहा कि 10 करोड रूपये सिमली बेस महिला अस्पताल के लिये स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष उत्तराखण्ड में आने वाले यात्रियों व पर्यटकों की संख्या 3-4 गुना बढ गई है। इस प्रकार प्रदेश में टूरिस्टों की तादात बढ रही है। आने वाले समय में जब चारधाम सडक के साथ ही अन्य सडकों का निर्माण पूर्ण हो जायेगा इससे पर्यटकों की तादात और बढेगी। कहा कि हमें इसके लिये व्यवस्थाएं भी बनानी होगी। कहा कि पिरूल से बिजली बनाने के प्रयास आरम्भ होग गये हैं। कहा कि चमोली के सोनला में एक प्रोजेक्ट लगाया गया है जिससे लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारे लोग देश ही नहीं विदेशों में अपनी मेहनत से उत्तराखण्ड को पहचान दिला रहे हैं। उन्होंने कहा कि पेड से पानी मिलता है इसलिये हमारे जीवन में पेड बहुत महत्वपूण है। प्रत्येक व्यक्ति को एक पेड अवश्य लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड भारत का पहला राज्य है जिसमें टिहरी में ड्रोन कैमरे से 38 किमी दूर ब्लड भेजा गया है। इसी प्रकार की तकनीकी अन्य जिलों में भी स्वास्थ्य क्षेत्र में अपनाई जाय। कहा कि औली में गुप्ता बन्धुओं से मैने स्वयं कहा कि हमारे उत्तराखण्ड में स्वीटजरलैण्ड जैसी खूबसूरत जगह है। इसलिये गुप्ता बन्धुओं का परिवार औली में शादी के लिये आया। इससे भविश्य में बेडिंग डेस्टिनेशन मे रूप मे औली विकसति होगा।

विधायक कर्णप्रयाग सुरेन्द्र सिंह नेगी ने क्षेत्र की समस्याओं से सीएम को अवगत कराते हुए सीमा सडग संगठन के जवानों एवं पुल निर्माण में भागदारी करने वाले सभी को बधाई दी। इस अवसर पर बीआरओ के एडीजी अलिक कुमार ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि नौली कर्णप्रयाग में मनोट ब्रिज की विशेषता यह है कि इस पुल का निर्माण निर्धारित अवधि से पहले ही पूरा किया गया है। कहा कि पुल का निर्माण 2020 में पूरा होना था जबकि इसे मई 2019 में ही पूर्ण किया गया है।

इस अवसर पर विधायक थराली मुन्नी देवी शाह, बीकेटीसी के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल, जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चैहान, मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पाण्डे, बीआरओ के मुख्य अभियन्ता एएस राठौर, 21 बीअरीटीएफ के कर्नल एसएस मक्कड सहित स्थनीय जनप्रतिनिध एवं जनता उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here