आपको बता दे कि उत्तराखंड के
विकासखंड बाराकोट में गल्लागांव के पास मैक्स वाहन के खाई में गिरने 12 लोग घायल हो गए। जबकि एक की मौत हो गई दुःखद वही अब तक मिली जानकारी के अनुसार मैक्स में सवार सब लोग बरात से वापस आ रहे थे। सूचना मिलने पर तुरन्त प्रशासन और पुलिस ने ग्रामीणों के साथ राहत बचाव कार्य किया। ख़बर है कि
गुरुवार को बाराकोट के रैधाव से लोहाघाट के मचपीपल गांव में एक बारात गई थी। ओर रात को बरात वापसी के समय लगभग 9 बजे मैक्स यूके 03 टीए 0046 अनियंत्रित होकर खाई में गिर गई।

ये हादसा गल्लागांव में कालशन मंदिर के पास हुआ। जहां वाहन लगभग 400 मीटर गहरी खाई में जा गिरा दुःखद वही सूचना मिलने पर लोहाघाट से पुलिस और फायर की रेस्क्यू टीम भो मौके पर पहुंची थी फिर टीम ने ग्रामीणों की मदद से घायलों को खाई से बाहर निकाला।ओर सभी घायलों को उपचार के लिए सीएचसी लोहाघाट लाया गया।


जिसमें चंदन अधिकारी उम्र लगभग 18 साल पुत्र रंजीत अधिकारी निवासी रैघाव की मौत हो गई दुःखद।
वही खबर है कि अन्य घायलों का उपचार किया जा रहा है। ओर गंभीर रूप से घायल आठ लोगों को हल्द्वानी रेफर किया गया है। वहीं चार का लोहाघाट सीएचसी में उपचार चल रहा हैइस पूरे वाहन में 13 लोग सवार थे।और मृतक का आज पोस्टमार्टम हुवा।
ख़बर है कि  गंभीर घायल किशोर सिंह पुत्र मानसिंह आयु 19 साल निवासी रैगांव, सौरभ सिंह पुत्र नारायण सिंह उम्र 16 साल निवासी रैगांव, गिरधर सिंह पुत्र शेर सिंह निवासी बकरिया झूला बाराकोट, सूरज सिंह पुत्र हरी सिंह उम्र 21 साल निवासी रैगांव, पूरन सिंह पुत्र बच्ची सिंह निवासी रैगांव, दिलीप सिंह पुत्र दीवान सिंह उम्र 21 निवासी रैगांव, कृष्ण अधिकारी उम्र 16 साल पुत्र तेज सिंह निवासी रैगांव, सूरज सिंह पुत्र गोवर्धन सिंह महज 16 साल ये सभी तहसील बाराकोट निवासी है।
वही जानकारी अनुसार सामान्य घायल मै नीरज सिंह पुत्र बहादुर सिंह उम्र 18 साल निवासी रैगांव बाराकोट, पानसिंह पुत्र दीवान सिंह उम्र 36 साल निवासी बकरिया झूला बाराकोट, राजू अधिकारी पुत्र नारायण सिंह साल 30 निवासी रैगांव बाराकोट, बलवंत सिंह पुत्र लाल सिंह साल 26 वर्ष निवासी बकरिया झूला बाराकोट हैं।
देवभूमि उत्तराखंड मैं रहने वालों से लेकर यहा आने वालों भक्तो पर्यटकों से बोलता उत्तराखंड का निवेदन है अपील है।कि आप वाहन चलाते समय पूरी सावधानी बरतें।ओर यदि कोई और चला रहा है तो उस पर भी नज़र रखे।
ध्यान दे नशा कर कोई भी गाड़ी ना खुद चलाये ओर ना चलाने दे। पहाड़ो मै ओवर टेक ना करे।
ओर घर से निकलते समय ये जरूर खुद भी याद रखे और दूसरों को भी याद दिलाये की घर मे स्याम को आपके अपने आपका इंतजार कर रहे है। ।
सांस लेना और देना तो ऊपर वाले के हाथ में है लेकिन खुद का ख्याल रखना भी तो हमारा काम है।
बाकी आप सब समझदार है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here