86 करोड़ 69 लांख का बकाया है 669 लोगो पर ! पढ़े पूरी ख़बर

अब बोलेगा उत्तराखंड़
अब बोलेगा उत्तराखंड़

              उत्तराखंड़ मैं अब बैंको के करोड़ो रूपये दबाने वालो कि कुर्की तय होना माना जा रहा है आपको बता दे कि यहा कुछ लोग सहकारी बैंक के लाखों-करोड़ों रुपये दबाए बैठे है और अब इन बकायेदारों पर अब कुर्की की तलवार लटक गई है। बोलता  उत्तराखंड़  आपको बता रहा है कि बैंक प्रबंधन ने ऐसे 41 बकायेदारों की सूची तैयार कर ली है जो बैंक का पैसा वापस ना कर उसे डकारने की कोशिश में लगें थे। प्रबंधन ने इन सभी 41 बकायेदारों की कुर्की के लिए सभी औपचारिकताओं को पूरा कर लिया है। आपको बता दे कि उत्तराखंड राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष दान सिंह रावत और प्रबंध निदेशक दीपक कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए बैंक की वसूली के लिए चलाए जा रहे अभियान की जानकारी दी।।           

जिन्होंने बैंक को मोटी राशि देनी है उनमें
सृष्टि स्टील इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड के बकाया-14 करोड़
महाकालेश्वर एसोसिएट्स -7 करोड़ 38 लाख
हरिबालाजी इंफ्राटेक प्रा.लि.- 6 करोड़ 24 लाख
हैंड्स के इंटरप्राइजेज प्रा.लि.-4 करोड़ 31 लाख
नैनीताल इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट-2 करोड़ 89 लाख
जे.एस.सी. रिटेल प्रा.लि.-2 करोड़ 91 लाख
प्रोपराइटर उबेदर रहमान -2 करोड़ 78 लाख
आर.बी.चंद बिल्डकॉम प्रा.लि.-1 करोड़ 3 लाख
आनंता बिल्डकॉम प्रा.लि.-97 लाख
प्रोपराइटर सर्वदमन सिंह, अजीत सिंह, लालकुंआ-75 लाख
प्रोपराइटर राजेश कौशिक, देहरादून-50 लाख
प्रोपराइटर दिव्या जैन, देहरादून-43 लाख
मैसर्स नीलकंठ एसोसिएट्स-34 लाख
प्रोपराइटर ओम प्रकाश गुप्ता, देहरादून-33 लाख
प्रोपराइटर संदीप भटनागर,देहरादून-31 लाख
आपको ये भी बता दे कि
उत्तराखंड राज्य सहकारी बैंक में 669 लोगों पर 86 करोड़ 69 लाख का बकाया है जिसमे बड़े बकायेदारों से वसूली अभियान चलाया गया हैं। पहले फेज में 41 लोगों को चिन्हित किया गया है। ओर नियमअनुसार
बकायेदारों की लिस्ट बनने और इन्हें 3 बार नोटिस जारी होने के बाद अब मजिस्ट्रेट के द्वारा कुर्की के आदेशों का इंतजार किया जा रहा है। जिसके बाद इन लोगों की कुर्की की जाएगी । अब देखना ये होगा कि ये रुपैया क्या ये लोग जमा करा देंगे या फिर इनकी कुर्की होगी या फिर बड़े सफेद पोशों से अच्छी जान पहचान के चलते इन्हें ओर वक़्त मिलता है ये सब आने वाले दिनों मे साफ हो जाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here