सतपाल महाराज का ये जवाब उनके गाल पर तमाचा है!

3240

भगवान सिंह  की रिपोर्ट

राजनीति मे कब क्या हो जाये कोई नही जानता । ओर कब कौन क्या बयान दे दे ये भी किसी को मालूम नही क्योंकि ये राजनीति है भाई और राजनेता समय की नज़ाकत को देख बात करता है।कोई अपने लिए गड्ढे खुद नही खोदता। कुछ यूही आजकल लोकप्रिय सतपाल महाराज के साथ भी हो रहा है उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही की वे दल बदलने जा रहे है जिस कारण सतपाल महाराज को अमित शाह के साथ वार्ता करनी पड़ी और फिर उसके बाद
प्रेस कांफ्रेंस
इस पत्रकार वार्ता में महाराज डंके की चोट पर बोले कि
बीजेपी में हूं बीजेपी में रहूंगा :
जी हां आज उत्तराखंड सरकार में पर्यटन सिंचाई लघु सिंचाई जलागम बाढ़ नियंत्रण संस्कृति धर्मस्व धार्मिक मेले भारत-नेपाल उत्तराखंड नदी परियोजनाएं कैबिनेट मंत्री
सतपाल महाराज ने दिल्ली स्थित एक सभागार में प्रेस को संबोधित किया उनके साथ भाजपा के दिग्गज नेता राज्यसभा सांसद सत्यनारायण जटिया मौजूद रहे महाराज ने कांग्रेस कि उस खबर का खंडन किया जिसमें नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा था कि भाजपा के दिग्गज नेता कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं भाजपा नेता एवं उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने अपने वक्तव्य में कहा कि यह एकमात्र कांग्रेसका षड्यंत्र है क्योंकि कांग्रेस की सभाओं में भीड़ एकत्रित नहीं हो रही है और वह इस प्रकार का झूठा प्रचार कर भीड़ एकत्रित करने का प्रयास कर रही है जिसमें कांग्रेस सफल नहीं होगी उन्होंने कहा कि मैं पूरे देश भर में घूम कर भारतीय जनता पार्टी को मजबूत कर एक बार फिर माननीय नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार को बनाएंगे उन्होंने स्पष्ट किया कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत विकास की गति में आगे बढ़ा है साथ ही विश्व में भारत का सम्मान हुआ है ओर ना उनकी कोई दावेदारी है ओर ना उनके परिवार से किसी की ।
इस बयान से ये साफ हो जाता है कि अभी सतपाल महाराज सिर्फ पर्यटन मंत्री के पद से खुश है और वे अभी अपनी धर्मपत्नी के लिए भी कोई टिकट की माग नही कर रहे है। ओर वे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत से भी बहुत खुश है। चलो अच्छा है हमारे लोकप्रिय सतपाल महाराज जी ने सच बया कर उनके गाल पर तमाचा मार दिया जो उनका नाम ले कर या बिना नाम लिए बहुत कुछ बोल रहे थे।
बहराल ऊपर लिखी गई ख़बर सतपाल महाराज के बयान के आधार पर है।
लेकिन कुछ राजनीति के चाणक्य कहते है कि सतपाल महाराज उत्तराखंड में भाजपा सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार थे ।पर भाजपा हाई कमान ने त्रिवेंद्र को सीएम बनाया। आज भले ही सतपाल महाराज ने पत्रकारों को ये बताया कि वे भाजपा के है ओर रहेगे ओर उन लोगो के गाल पर तमाचा सा मार दिया जो सतपाल महाराज के नाम पर अफवाह फैला रहे है। पर इस बात की कोई भी गारंटी नही ले सकता कि कल कहा क्या बयान किसी नेता का निकल आये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here