आपको बता दे कि उत्तराखंड के रुड़की में झबरेड़ा क्षेत्र के बल्लूपुर गांव में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत हो गई। वहीं कही लोग गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं। 

आपको बता दे कि एसएसपी जनमेजय प्रभाकर खंडूरी के अनुसार, गांव में एक व्यक्ति के घर में तेरहवीं के भोज का कार्यक्रम था। इस दौरान वहां कुछ ग्रामीणों ने शराब पी थी।
शराब पीने के बाद वहां ग्रामीणों की हालत खराब होने लगी जिसमें 12 लोगों की मौत हो गई। वहीं अन्य लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि यह हादसा घर पर बनाई जा रही कच्ची शराब पीने के कारण हुआ होगा। पुलिस टीम मौके के पर पहुची हुई है 

वहीं इस बात की भी जांच की जा रही है कि मामला फूड प्वाइजनिंग का तो नहीं है। क्योंकि शराब पीने और खाना खाने के बाद ही लोगों की तबियत बिगड़ी थी। मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। 

कच्ची शराब पीने से हुई मौत! के मामले में जिलाधिकारी हरिद्वार गांव में पहुंचे, मृतक के परिजनों से ले रहे हैं पूरे मामले की जानकारी, आबकारी विभाग व आस-पास की पुलिस में मचा हड़कंप

भगवानपुर । यूपी की सीमा से सटे गांव में कच्ची शराब पीने से 1 दर्जन लोगों की मौत हो जाने की घटना से प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है । सूचना मिलने के बाद जिलाधिकारी हरिद्वार दीपक रावत व तहसील के तमाम अधिकारी कर्मचारी गांव में पहुंच गए हैं।जिलाधिकारी ने बिंडूखड़क,बालूपुर ,भलस्वागाज आदि गांव में मृतक के परिजनों से पूरे मामले की जानकारी ली है। उन्होंने मृतक के परिजनों को आश्वस्त किया है कि पूरे मामले की तहकीकात कराई जा रही है। रिपोर्ट आने के बाद आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान जिलाधिकारी दीपक रावत को गांव के कुछ लोगों ने बताया कि कच्ची शराब का उत्पादन गांव में ही हो रहा है इसी शराब के पीने से ग्रामीणों की मौत हुई है । ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को बताया है कि कच्ची शराब पीने के बाद रात में मौत का सिलसिला शुरू हो गया था जो सुबह तक जारी रहा। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों से यह जानने की कोशिश की कि जो गांव में कच्ची शराब का उत्पादन हो रहा है। इस संबंध में उनके द्वारा क्या कभी थाना व चौकी पुलिस को शिकायत की है। आबकारी विभाग को भी कभी सूचना दी गई है या नहीं। यदि दी गई है तो क्या कार्रवाई हुई है। मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रोफेसर नरेंद्र सिंह भाजपा नेता सुबोध राकेश विधायक ममता राकेश क्षेत्र के अन्य तमाम नेताओं ने गांव में पहुंचकर घटना पर दुख जताया है। मृतक के परिजनों को सांत्वना दी है और कहा है कि उन्हें हर स्तर पर सहयोग दिया जाएगा। वहीं मृतक मृतकों के घर पर तमाम रिश्तेदार और परिचितों की भीड़ लगी हुई है। दूरदराज के गांवों के रिश्तेदार भी घटना की सूचना मिलने के बाद गांव में पहुंच गए हैं। इस बीच आबकारी विभाग,थाना और चौकी पुलिस संयुक्त टीम उन तमाम घरों घेरों खेत खलियान ट्यूबवेलों और गन्ना कोल्हू की तलाशी अभियान शुरू करने जा रही है। जहां पर कच्ची शराब का उत्पादन होने की सूचना मिल रही है। हालांकि सूत्रों ने बताया है कि जैसे ही मौत का सिलसिला शुरू हुआ और गांव में इसकी सूचना मिलने के साथ ही कच्ची शराब का उत्पादन करने वाले लोगों ने तैयार रहें और कच्ची शराब का उत्पादन करने के उपयोग में आने वाले तमाम उपकरणों को इधर-उधर फिकवा दिया। लेकिन संयुक्त टीम ऐसे लोगों को चिन्हित कार कार्रवाई शुरू कर रही है। वही आबकारी विभाग ने लापरवाही का मामला समझते हुए 13 आबकारी अधिकारी को तुरन्त निलंबित कर दिया है ।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here