सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री ओर हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक का नाम आज ओर भी ऊंचा हो गया क्योंकि उनकी लाडली बेटी श्रेयशी निशंक ने विदेश में लाखो रुपए की जॉब्स को छोड़ सेना को चुना ओर आज वो अफसर बन गई है। आपको बता दे इस यादगार अनमोल पलो के मौके पर लखनऊ में आयोजित पासिंग आउट परेड में खुद डॉ. निशंक पोखरियाल मौजूद रहे। आज उनके अपनो को उनकी आंखों से खुसी के आंसू निकलते देखे गए ।  
आपको बता दे कि उनकी लाडली बिटिया ने स्कॉलर्स होम सीनियर सेकेंडरी स्कूल से 12वीं पास करने के बाद ही श्रेयशी निशंक ने हिमालयन मेडिकल कॉलेज जौलीग्रांट से एमबीबीएस की पूरी पढ़ाई की। उनका पहले से ही सेना में जाकर देशसेवा करने का सपना था। इसलिए सेना की मेडिकल कोर उन्होंने ज्वाइन की।
आपको बता दे कि शनिवार को लखनऊ में हुई पासिंग आउट परेड से पासआउट होकर श्रेयशी निशंक ने पिता का नाम ओर भी ऊंचा कर दिया  श्रेयशी की बड़ी बहन अरुषि निशंक ने कहा कि उत्तराखंड में पहले से ही युवाओं में सेना के प्रति उत्साह रहा है। हर घर फौजी की कहावत को उनकी छोटी बहन श्रेयशी ने दोहराया है ओर उनके पूरे परिवार को श्रेयशी पर गर्व है। इस मौके पर श्रेयशी के पिता डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि मुझे गर्व हो रहा है कि हमारे परिवार से मेरी बेटी पहली सैन्य अफसर बनी है। 
वे बोले कि मेरी इच्छा थी कि परिवार से कोई सेना में होना चाहिए। मेरी बेटी ने यह इच्छा पूरी कर दी है। पूर्व सीएम निशंक ने कहा कि बेटी श्रेयशी बचपन से ही डॉक्टर बनना चाहती थी, लेकिन करीब दो साल पहले उसने सेना में जाने की ठान ली। ओर आज मै खुश हो कि अब बेटी श्रेयशी सेना में अपनी सेवाएं देकर देश सेवा करेगी। बहराल जिस तरह उत्तराखंड राज्य के युवा सेना को अपनी पहली पसंद चुनते है ठीक वैसे ही अब युवतियां भी सेना में जाकर देश सेवा करना चाहती है इससे पहले कैबिनेट मंत्री प्रकाश पन्त की बिटिया भी सेना में अपनी सेवाये दे रही है । ओर ये दोनों बेटिया ही पहाड़ की बेटियो के लिए आदर्श बन गई है।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here