: आपको बता दे कि शुक्रवार को उत्तराखंड के पहाड़ में दर्दनाक हादसा हो गया। जगह थी रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाइवे की जहा पर बांसवाड़ा में चट्टान टूटने से कई मजदूर मलबे में दब गए थे । और उस हादसे में सात मजदूरों की मौत हो गई। जबकि तीन मजदूर भाई गंभीर घायल हैं। जिन्हें हेलीकॉप्टर से ऋषिकेश के ऐंमस लाया गया जहा उनका इलाज चल रहा है ख़बर है कि सभी मृतक मज़दूर भाई जम्मू-कश्मीर के रहने वाले थे ।
ख़बरे ये है कि पहाड़ो मै ऑल वेदर रोड का काम चल रहा था। ओर इसी दौरान अचानक चट्टान टूटकर गिर गई। जिसके चलते पहले मलबा जेसीबी पर गिर फिर जेसीबी भी नदी में जा गिरी। जानकारी अनुसार जिस समय ये दर्दनाक हादसा हुआ, उस समय वहां पर जानकारी अनुसार 23 मजदूर काम कर रहे थे, जिसमें से 13 सुरक्षित बच गए। जबकि 7 की दर्दनाक मौत हो गई और । 3 घायल हैं।  
इस हादसे की सूचना मिलते ही रेस्क्यू टीम और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तेज़ गति से राहत बचाव का कार्य किया और उस दौरान सात मजदूरों के शव को निकाला तो घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत ने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली और इस हादसे पर गहरा दुःख जताया।
जानकारी अनुसार डीएम और एसपी की माने तो जल्द ही कॉन्ट्रैक्टर और ठेकेदार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी और एसडीएम के नेतृत्व में जांच कमेटी भी गठित कर दी गई है।  
बहराल इस दर्दनाक हादसे से सभी मजदूर भाई लोगो का परिवार पूरी तरह सदमे मे चला गया है ।

आज दिनांक 21.12.2018 को जिला पुलिस नियंत्रण कक्ष में समय 12:30 बजे सूचना प्राप्त हुई कि स्थान बांसवाड़ा में आलवैदर रोड़ प्रोजेक्ट के तहत कार्यरत मजदूरों के ऊपर पहाड़ी दरकने से कुछ मजदूरों के दबने की आशंका है। उक्त सूचना को तत्काल जनपदीय थाना, चौकियों पुलिस लाइन्स व फायर सर्विस को फ्लैश किया गया। निकट ही कस्बा भीरी में रूटीन चैकिंग कर रहे थानाध्यक्ष ऊखीमठ निरीक्षक श्री होशियार सिंह पंखोली एवं साथ में नियुक्त कार्मिकों द्वारा तत्काल बिना किसी देरी के राहत बचाव कार्य आरंभ किया गया। सर्वप्रथम सुरक्षा की दृष्टि से अन्य मजदूरों को घटनास्थल से दूर करते हुए स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को निकाला गया। इस बीच निकटवर्ती थाना अगस्त्यमुनि, गुप्तकाशी से भी पुलिस बल त्वरित गति से मौके पर पहुंचा। साथ ही पुलिस लाइन्स, फायर सर्विस व एसडीआरएफ की टीमें भी घटनास्थल पर पहुंची।

जनपद मुख्यालय से पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग श्री अजय सिंह एवं जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग भी घटनास्थल पर पहुंचे। जिनके द्वारा भी राहत बचाव अभियान चलाया गया। इस मध्य अन्य सम्बंधित विभागीय अधिकारी/कर्मचारी भी पहुंचे। युद्ध स्तर पर चलाये गये अभियान के दौरान कुल 03 घायलों को सुरक्षित निकाला गया जिनको प्राथमिक चिकित्सालय अगस्त्यमुनि में प्राथमिक उपचार दिया गया। 01 व्यक्ति जो कि जेसीबी चालक है, उसे कम चोटें होने के कारण डिस्चार्ज कर दिया गया एवं अन्य 02 व्यक्ति जो कि गम्भीर रूप से घायल है, को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेन्टर रेफर करते हुए रुद्रप्रयाग से हेलीकाप्टर के माध्यम से एयर लिफ्ट कर एम्स ऋषिकेश पहुंचाया गया है। दौराने रेस्क्यू अभियान कुल 07 मजदूरों के शव बरामद किये जा चुके हैं, समस्त मृतक जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर के निवासी हैं। जिनके नामों की जानकारी प्राप्त की जा रही है। अन्य मजदूरों के फंसे होने की सम्भावना के दृष्टिगत घटनास्थल पर  लगातार रेस्क्यू अभियान जारी    रहा

 

*उक्त घटना के घटित होने में कार्यदायी संस्था की बड़ी लापरवाही सामने आयी है, उनके द्वारा बिना सुरक्षा मानकों के मजदूरों से कार्य करवाया जा रहा था, जिसके परिणामस्वरूप इतनी बड़ी दुर्घटना घटित हुई है, जिस सम्बन्ध में पुलिस द्वारा जांच कर नियमानुसार आवश्यक वैधानिक कार्यवाही अमल में लायी जा रही है। इस मध्यजिलाधिकारी रुद्रप्रयाग द्वारा भी घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दे दिए गए हैं।*

*मृतकों का विवरण*
1 बिलाल उम्र 20 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
2 सिब्बीर उम्र 30 वर्ष, निवासी बगना, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
3 अब्दुल रशीद उम्र 60 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
4 इम्तियाज अहमद उम्र 26 वर्ष निवासी हथलंगा, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
5 मुश्ताक अहमद उम्र 30 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
6 जूर हामिद शेख, उम्र 30 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
7 गुलज़ार, उम्र 20 वर्ष निवासी उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर
*घायलों का विवरण*
1 अलताफ हाजम पुत्र गुलाम कादर हासन, ग्राम हथलंगा, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर उम्र 55 वर्ष
2 अब्बास पुत्र सुबान शेखग्राम हथलंगा, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर उम्र 20 वर्ष
3 अल्ताफ हुसैन निवासी ग्राम मौंथल, तहसील उड़ी, जिला बारामूला, जम्मू कश्मीर उम्र 45 वर्ष



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here