हरक का बड़ा बयान- N D तिवारी सरकार को गिराने की थी तैयारी!

आपको तो मालूम ही है कि राजनीति किस पल क्या करा दे किसी को मालूम नहीं होता ओर यहां कोई अपना सगा नहीं होता ये बात जग जाहिर है और आज इसलिए कही जा रही है क्योंकि कभी कभी दिल की बात ओर जो समय बीत गया हो उसका जिक्र हो ही जाता है । मगलवार से उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र आरम्भ हो चुका है ।और इस सत्र मे सदन के अंदर ही कैबिनेट वन मंत्री हरक सिंह रावत ने एक बार फिर पुरी सदन के सामने बड़ा बयान ओर कड़वी बात कह डाली क्या करे हरक दिल के साफ जो है ।जो मन मे आया कह दिया और उनकी कही बात सच भी होती है भाई ।वन मंत्री हरक सिंह ने स्वर्गीय पूर्व मुख्यमंत्री नारयण दत्त तिवारी को श्रदांजलि देने के बाद उस बात का जिक्र किया जिसे सुनकर मानो सियासत में आग लग गई हो हरक सिंह ने कहा को एक समय था जब वो पंडित नारायण तिवारी की सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे थे । ओर उस समय उनके साथ 28 विद्यायक साथ मे थे ओर विजय बहुगुणा से भी बात हो चुकी थी … .. आदि आदि


खेर हरक को कहा पड़ता है फर्क वन मंत्री हरक सिंह रावत का तो विवादित बयानों से चोली- दामन का साथ रहा है. वहीं शीतकालीन सत्र के पहले दिन के दौरान हरक सिंह रावत के बयान से सब सकते में आ गए. वन मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि नारायण दत्त तिवारी सरकार को गिराने के लिए 28 विधायक उनके संपर्क में थे. जिसके लिए भाजपा नेता भगत सिंह कोश्यारी से बात हो गई थी, बीजेपी के साथ मिलकर नई सरकार बनाने की पूरी तैयारी थी. । बस फिर क्या था जहा विपक्ष ने हरक पर हमला बोल ये तक कहा कि हरक सिंह रावत का तो काम ही है सरकार गिराने का ओर ग्रुप ग्रुप मे ओर भी लोग साथ होते है ये बयान इंदिरा हरदेश ने दिया ये कह कह कर की हरक ने तो सच बया किया है इसमें गलत क्या है। पर जो बडी बात कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कही उसने सबसे अधिक सियासत में आग लगा दी। प्रीतम सिंह ने कहा कि हरक सिंह ने ये सब बाते वो भी सदन में बोल कर त्रिवेन्द्र रावत को संकेत दे दिए है कि अगर मुझको कुछ ना समझा तो फिर मे कुछ भी कर सकता हूँ प्रीतम ने कहा कि साल 2016 मे हरीश रावत की सरकार गिराने मै हरक सिंह कामयाब हो गए। तो वो n
D तिवारी की सरकार नही गिरा पाये।ओर आज की जो बात करे तो हरक का ये बयान आगे त्रिवेन्द्र के लिए किसी मुसीबत का संकेत है ।


बहराल हरक सिंह तो कह रहे है कि लोगो का काम है कहना कुछ तो कहेगे पर जनता बता देती है कि उन्हें हरक पर है विस्वास तभी तो जीत कर आता हूँ। जहा से मर्ज़ी चुनाव लड़ा लो जी । ये हरक है इन्हें कोई फर्क नही पड़ता आज । पर हरक के बयान के बाद जब विपक्ष कहे कि मुख्यमंत्री जी सावधान तो बात बड़ी हो जाती है क्योंकि ये तो ग्रुप है भाई जो इंदिरा हरदेश् भी कह रही है कोई एक सिर्फ हरक ही नही । बात जो भी हो सच तो ये सब राजनेता ही जाने क्योंकि इनके दिल में क्या मन में क्या ओर करते क्या वो तो ऊपर वाला ही जाने

पर जब विपक्ष कहे कि त्रिवेन्द्र जी सावधान! अब आपकी बारी ! हरक दे रहे है संकेत ! तो उस लिहाज़ा से खबर बड़ी हो जाती है और हमने वही लिखा जो नेता बोल रहे है कुछ रिकार्ड के साथ तो बहुत कुछ आफ रिकार्ड ।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here