आपको बता दे कि कांग्रेस के पूर्व महानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चौहान अब भाजपा के हो गए है और अब
आगामी नवंबर में होने वाले नगर निकाय चुनावों में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा चुका है। महानगर के पूर्व अध्यक्ष पृथ्वीराज चौहान के भाजपा में शामिल होने से बीजेपी के मेयर उम्मीदवार गामा को मजबूती मिली हैं।
राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलवाई। पृथ्वीराज चौहान के साथ 70 से अधिक समर्थक भी भाजपा में शामिल हो गए हैं। इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और देहरादून से भाजपा के मेयर प्रत्याशी सुनील उनियाल भी मौजूद रहे।
तो दूसरी तरफ
कांग्रेस कमेटी ने 38 बागियों को पार्टी से बाहर का रास्ता पहले ही दिखा दिया है। जबकि कई नेताओं से स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। पार्टी ने ये कार्रवाई नगर निकाय चुनाव में पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के खिलाफ गतिविधियों में लिप्त होने के मामले में की है। सभी बागियों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया है। 

पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने निष्कासन किए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि पार्टी अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं करेगी। पार्टी ने नामांकन वापसी के तत्काल बाद निष्कासन की कार्रवाई को यह सोचकर टाल दिया था कि शायद बागी अधिकृत प्रत्याशी के विरूद्ध अपना नामांकन वापस ले लेंगे और उनके पक्ष में प्रचार करेंगे। इसके लिए पार्टी ने दिवाली तक इंतजार करने का फैसला किया था। मगर नगर निकायों में कई बागियों ने पार्टी की अपील को अनसुना कर दिया। परिणामस्वरूप बृहस्पतिवार को पार्टी ने 38 पदाधिकारियों पर कार्रवाई कर दी। बहराल निकाय चुनाव मे सबकी नजर लगी हुई है ओर राजनीतिक पार्टियां इस समय जोड़ तोड़ के साथ मैदान मे अपने अपने उम्मीदवार के लिए वोट मांगती दिखाई दे रही है ।





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here