लो जी सरकारी स्कूल मे ताले लगने के बाद अब पहाड़ मैं पॉलिटेक्निक कॉलेज भी बंद होंगे बल ! कारण जाने

उत्तराखंड: बंद हो सकते हैं 20 पॉलिटेक्निक कॉलेज, व को दूसरे संस्थानों में शिफ्ट करेगी सरकार

आपको बता दे कि राज्य के लगभग 20 राजकीय पॉलिटेक्निकों पर बंदी की तलवार लटक चुकी है। वजह है ये क्योंकि इनमें छात्र तो हैं, लेकिन शिक्षक नहीं। इसलिए सरकार अब इन संस्थानों के छात्रों को दूसरे संस्थानों में शिफ्ट करेगी। ख़बर है कि इसके लिए पहले ही 250 संविदा कर्मचारियों का बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।
आपको बता दे कि प्रदेश में 70 राजकीय पॉलिटेक्निक हैं। इनमें हर साल प्रवेश परीक्षा और उसके बाद कांउसिलिंग से दाखिले किए जाते हैं। इस बार जिन संस्थानों में दाखिले किए गए हैं उनमें से 20 संस्थान ऐसे हैं कि जिनमें संबंधित विषय के शिक्षक ही उपलब्ध नहीं हैं। ओर अब इन संस्थानों के छात्रों को आसपास के संस्थानों में शिफ्ट किया जा रहा है। या किया जाएगा
ख़बर है कि प्राविधिक शिक्षा निदेशक डॉ. अहमद इकबाल ने इस संबंध में अपर मुख्य सचिव तकनीकी शिक्षा को प्रस्ताव भेज दिया है। अब शासन स्तर से इस पर मुहर लगनी बाकी है। शिफ्ट होने वालों में न केवल प्रथम वर्ष बल्कि द्वितीय व तृतीय वर्ष के छात्र भी शामिल हैं। आपको बता दे कि जानकारी अनुसार
इन संस्थानों के छात्र होंगे शिफ्ट जिसमे

-राजकीय पॉलिटेक्निक, मल्लासालम, अल्मोड़ा
-राजकीय पॉलिटेक्निक, जैंती, अल्मोड़ा
-राजकीय पॉलिटेक्निक, जाखणीधार, टिहरी
-राजकीय पॉलिटेक्निक, कांडीखाल, टिहरी
-राजकीय पॉलिटेक्निक, गैरसैंण, चमोली
-राजकीय पॉलिटेक्निक, गोपेश्वर, चमोली
-राजकीय पॉलिटेक्निक, जोशीमठ, चमोली
-राजकीय पॉलिटेक्निक, जखोली, रुद्रप्रयाग
-राजकीय पॉलिटेक्निक, चोपता, रुद्रप्रयाग
-राजकीय पॉलिटेक्निक, कपकोट, बागेश्वर

-राजकीय पॉलिटेक्निक, चंपावत
-राजकीय पॉलिटेक्निक, क्वांसी, देहरादून
-राजकीय पॉलिटेक्निक, रामनगर, नैनीताल
-राजकीय पॉलिटेक्निक, पाबौ, पौड़ी
-राजकीय पॉलिटेक्निक, बांस, पिथौरागढ़
-राजकीय पॉलिटेक्निक, बांसबगड़, पिथौरागढ़
-राजकीय पॉलिटेक्निक, डीडीहाट, पिथौरागढ़
-राजकीय पॉलिटेक्निक, बेरीनाग, पिथौरागढ़
-राजकीय पॉलिटेक्निक, बरम, पिथौरागढ़
-राजकीय पॉलिटेक्निक, पीपली, उत्तरकाशी

कुछ राजकीय पॉलिटेक्निक में कई ब्रांच में छात्र संख्या भी कम है और पर्याप्त शिक्षक व कर्मचारी भी नहीं हैं। जिसके कारण वहां के छात्रों को दूसरे संस्थानों में भेजा जा रहा है। अभी किसी पॉलिटेक्निक संस्थान को बंद करने का इरादा नहीं है। ये बयान (आरपी गुप्ता, एडिशनल डायरेक्टर, तकनीकी शिक्षा वि0 ) ने दिया है।
बहराल एक तरफ जहा राज्य के सरकारी स्कूलों बंद हो रहे है वही दूसरी तरफ अब ये कुल मिलाकर कर्मचारी ओर शिक्षक की कमी के कारण ये नोबत आ रही है
अब आगे देखना होगा कि सरकार इस पूरे मामले में क्या कुछ नया मोड़ लेती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here